ISIS के चंगुल से आज़ाद हुई पैगंबर हजरत यूनुस की मज़ार

नई दिल्ली (18 जनवरी): इराक़ी सेना ने मोसूल स्थित पैग़म्बर हज़रत यूनुस के मज़ार को आईएसआईएस के चंगुल से आजाद करा लिया है। इराक़ी सेना ने मोसूल सिटी में अपनी प्रगति जारी रखते हुए इस शहर में हज़रत यूनुस के मज़ार को आतंकियों के नियंत्रण से स्वतंत्र करा लिया है।  सेना ने वहां पर इराक़ का राष्ट्रीय ध्वज फहरा दिया है।

इराक़ी सेना के आतंकवाद निरोधक दल के प्रवक्ता सबाह नोमान ने कहा कि हमने हज़रत यूनुस के मज़ार से आंतंकियों को खदेड़ दिया है और वहां पर इराक़ का राष्ट्रीय ध्वज फहरा दिया गया है। उन्होंने कहा कि इराक़ी सेना पूर्वी मोसूल के दो अन्य क्षेत्रों पर नियंत्रण प्राप्त करने में सफल रही।हज़रत यूनुस का मज़ार मोसूल में स्थित है जहां पूरी दुनिया से मुसलमान और ईसाई दर्शन के लिए जाते हैं। 2014 में दाइश के आतंकियों ने मोसूल के कुछ क्षेत्रों पर क़ब्ज़ा करने के कुछ ही सप्ताह बाद हज़रत यूनुस के मज़ार को नष्ट कर दिया था। दाइश की इस घृणित कार्यवाही पर पूरी दुनिया से कड़ी प्रतिक्रियाएं सामने आई थीं।