बिहार: सांप्रदायिक हिंसा के बाद औरंगाबाद में लगा कर्फ्यू, 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद

नई दिल्ली ( 27 मार्च ): बिहार के औरंगाबाद में रामनवमी के जुलूस के दौरान भड़की हिंसा बेकाबू हो गई है। प्रशासन ने हिंसा को देखते कर्फ्यू लगाने का आदेश दिया है। साथ ही 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी है। 

उपद्रवियों ने 50 से अधिक गाड़ियों और दुकानों को आग के हवाले कर दिया। जिलाधिकारी राहुल रंजन महीवाल ने शहर में कर्फ्यू लगाए जाने की पुष्टि की है। दंगाइयों से निपटने के लिए शहर में भारी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है। 

बिहार के औरंगाबाद में रामनवमी के जुलूस के दौरान दो संप्रदायों के बीच भारी झड़प हो गई। इस दौरान एक संप्रदाय के पत्‍थरबाजी करने के बाद दूसरे संप्रदाय के लोगों ने दुकानों में आग लगा दी। ये हालात रामनवमी के जुलूस के दौरान तब पैदा हुए जब जय श्री राम के नारों के साथ शोभायात्रा निकल रही थी।

तभी दूसरे संप्रदाय की ओर से दी गई प्रतिक्रिया के बाद दोनों पक्ष भिड़ गए। हालात बेकाबू होते देख मौके पर पुलिस बल पहुंचा। जैसे तैसे दोनों संप्रदायों पर नियंत्रण किया गया। फिलहाल शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है। साथ ही भारी संख्‍या में पुलिस भी तैनात कर दी गई है।

पत्थरबाजी की घटनाओं में 20 पुलिसकर्मियों सहित 60 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। बताया जाता है कि सांप्रदायिक हिंसा उस वक्त शुरू हुई जब शहर के नवाडीह इलाके में निकाली जा रही राम नवमी की शोभा यात्रा पर कुछ लोगों ने कथित रूप से पत्थरबाजी की।