हरियाणवी सिंगर सपना चौधरी का पीछा नहीं छोड़ रही मुसीबत...

नई दिल्ली (10 अक्टूबर): जातिसूचक रागिनी विवाद को लेकर सतपाल तंवर के समर्थक हरियाणवी गायिका सपना को माफी देने के लिए तैयार नहीं है। उनके समर्थकों ने रविवार को खांडसा गांव के कबीर पंथी चौपाल पर पंचायत कर सपना द्वारा पंजाब एवं हरियाणा हाइकोर्ट चंडीगढ़ में दिए गए हलफनामे को फर्जी ठहराया। 

- पिछले दिनों सपना ने अपने बचाव में हाईकोर्ट में एक एफिडेविट दिया था, जिसमें लिखा था कि खांडसा गांव में उसने दलित समाज की पंचायत में माफी मांग ली है और दलित समाज ने उसे माफ कर दिया है।

- इस एफिडेविट में उदयवीर अंजना नामक व्यक्ति ने अपने को खांडसा गांव का मौजूदा सरपंच बताकर सिग्नेचर किए हुए हैं।

- रविवार को सपना के खिलाफ पंचायत में समाज के लोगों ने कहा कि सपना के साथ दलित समाज की कोई पंचायत नहीं हुई। 

- कुछ असामाजिक तत्वों ने सपना के साथ मिलकर साजिश रचते हुए फर्जी एफिडेविट तैयार किया है और अदालत को गुमराह किया है।

- इस मामले पर फर्जी एफिडेविट में सिग्नेचर करने वाले लोगों का दलित समाज ने बहिष्कार कर दिया है और उन पर कार्रवाई की मांग की है। 

- पंचायत में सतपाल ने खांडसा के महिपाल, रणबीर फौजी, प्रताप सिंह तंवर सहित कई लोगों द्वारा समर्थन का दावा किया है।