राहुल के सामने कश्मीरी महिला ने बयां किया दर्द, प्रियंका ने पूछा- यह कब तक जारी रहेगा?

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(25 अगस्त): कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने रविवार को जम्मू-कश्मीर मुद्दे के 'राजनीतिकरण' का आरोप लगाने वालों पर निशाना साधा। उन्होंने ने कहा कि कश्मीर में लोकतांत्रिक अधिकारों को कथित तौर पर 'बंद' करने की तुलना में 'राजनीतिक' और 'राष्ट्र-विरोधी' कुछ भी नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस इसके खिलाफ आवाज उठाना बंद नहीं करेगी। उनकी टिप्पणी राहुल गांधी सहित विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के एक दिन बाद आई है, जो अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने के बाद वहां की स्थिति का जायजा लेने के लिए कश्मीर घाटी का दौरा करना चाहते थे। हालांकि राज्य प्रशासन द्वारा श्रीनगर हवाई अड्डे से ही सभी को वापस लौटा दिया गया। 

ट्विटर पर प्रियंका गांधी ने एक वीडियो ट्वीट किया जिसमें एक महिला राहुल गांधी को अपने परिवार और प्रियजनों के साथ समस्याओं के बारे में बता रही थी। उन्होंने कहा, 'यह कब तक जारी रहेगा? यह उन लाखों लोगों में से एक है, जिन्हें 'राष्ट्रवाद' के नाम पर चुप कराया जाता है और कुचल दिया जाता है।' प्रियंका गांधी ने कहा, 'उन लोगों के लिए जो इस मुद्दे के 'राजनीतिकरण' का आरोप लगाते हैं। कश्मीर में सभी लोकतांत्रिक अधिकारों को बंद करने से ज्यादा 'राजनीतिक' और 'राष्ट्र विरोधी' कुछ भी नहीं है।' उन्होंने कहा, 'हममें से हर एक का यह कर्तव्य है कि हम इसके खिलाफ आवाज उठाएं. हम ऐसा करना बंद नहीं करेंगे।'

दरअसल महिला राहुल से उसी विमान में मिली जिसमें वह विपक्षी दलों के नेताओं के साथ दिल्ली वापस जा रहे थे क्योंकि प्रशासन मे उन्हें श्रीनगर हवाई अड्डे से बाहर नहीं जाने दिया। दिल्ली वापस आकर राहुल ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य नहीं हैं। हम जानना चाहते हैं कि वहां लोग किन परिस्थितियों से गुजर रहे हैं और हम उनकी मदद कैसे कर सकते हैं। लेकिन दुर्भाग्य से हमें हवाई अड्डे से बाहर नहीं जाने दिया गया। हमारे साथ मौजूद प्रेस के लोगों के साथ बदसलूकी की गई।