क्रिकेट के भगवान सचिन के नक्शेकदम पर चला यह युवा क्रिकेटर

नई दिल्ली ( 17 नवंबर ): मुंबई के 18 वर्षीय क्रिकेटर पृथ्वी शॉ ने एक और रिकाॅर्ड स्थापित किया है और वह अभ सचिन के रिकॉर्ड के करीब पहुंच गए हैं। शुक्रवार को पृथ्वी ने रणजी मैच में आंध्र प्रदेश के खिलाफ खेलते हुए प्रथम श्रेणी में 5वां शतक जड़ा। सीनियर खिलाड़ियों की मानें तो वह उभरते खिलाड़ियों में सबसे ऊंचे पायदान पर हैं। पृथ्वी कम उम्र में बिना इंटरनेशनल मैच खेले क्रिकेट में कई ऐसे रिकॉर्ड बना रहे हैं, जिसे हजारों क्रिकेटरों में एक या दो ही खिलाड़ी ऐसा कारनामा कर पाते हैं। अपने खेल के बलबूते पृथ्वी हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं। 

पृथ्वी शॉ की यह 13वीं पारी थी। उन्होंने शतक जड़कर मुंबई को 64/3 के स्कोर से 162/3 तक पहुंचने में मदद की। शॉ के नाम प्रथम श्रेणी में पांच शतक हैं जिनमें से चार उन्होंने रणजी ट्राॅफी में लगाए हैं। 

शॉ ने आंध्र प्रदेश के खिलाफ 173 गेंदों पर 114 रन बनाए। अपनी पारी में उन्होंने 14 चौके और एक छक्का लगाया। वह आखिरकार 61वें ओवर में अय्यप्पा बंडारू की गेंद पर आउट हुए। उनका चौथा शतक ओडिशा के खिलाफ था जब उन्होंने 153 गेंदों पर 105 रनों की पारी खेली थी। इस दौरान उन्होंने 18 चौके लगाए थे। 

शॉ की फॉर्म और प्रतिभा को देखकर उनकी तुलना क्रिकेट के भगवान कहने जाने सचिन तेंदुलकर से की जा रही है। सचिन ने जहां 18 साल 8 दिन की उम्र तक 36 प्रथम श्रेणी मैचों में 2911 रन बनाए थे वहीं शॉ ने 7 मैचों में 873 रन बना लिए हैं।