भारत और कजाखिस्तान की जेलों में हो सकेगी कैदियों की अदला-बदली

नई दिल्ली (31 मई): भारत और कजाखस्तान ने एक-दूसरे के सजायाफ्ता कैदियों के स्थानांतरण के लिए जिस समझौते पर दस्तखत किए थे, वह दोनों देशों की ओर से अनुमोदित किए जाने के बाद प्रभावी हो गया ।

गृह मंत्रालय ने कहा कि भारत और कजाखस्तान के बीच सजायाफ्ता कैदियों के स्थानांतरण से जुड़ा समझौता 26 मई से प्रभावी हुआ ।दोनों देशों ने आठ जुलाई 2015 को इस समझौते पर दस्तखत किया था । भारत ने इसे नौ अक्तूबर 2015 को अनुमोदित किया जबकि कजाखस्तान ने इसे चार मार्च 2016 को अनुमोदित किया ।