युवा प्रिंस सलमान की बढ़ती ताकत से सऊदी शाही परिवार में टकराव के आसार

रियाद (17 अक्टूबर): प्रिंस सऊदी के मौजूदा सुल्तान के बेटे प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने दिनों सऊदी के सभी अहम फैसलों में अपनी राय आगे आकर देने लगे हैं। पिछले कुछ समय में सऊदी ने जितने बड़े फैसले लिए हैं, उनके पीछे प्रिंस सलमान का असर भी देखा जा रहा है।

चाहे वह बजट हो, या फिर विदेशी सौदों को रोकना और सरकारी कर्मचारियों के वेतन में कांट-छांट, प्रिंस का असर हर कहीं देखा जा सकता है। तेल की गिरती कीमतों के बीज सऊदी ने इस बीच खर्च करने में भारी कटौती की है। इनके पीछे भी और कोई नहीं, बल्कि प्रिंस सलमान ही हैं। 31 साल के प्रिंस सलमान सऊदी राजशाही में अब तक के सबसे प्रभावी युवा हैं। पारंपरिक लीक से हटते हुए वह परंपरा को बदलने, अर्थव्यवस्था सुधारने और सत्ता केंद्रित करने में जुटे हैं।

2 साल से भी कम समय में वह सऊदी में सबसे ताकतवर चेहरा बनकर सामने आए हैं। यही कारण है कि सऊदी की गद्दी के पहले दावेदार नहीं होने के बावजूद वह गद्दी के लिए सबसे मजबूत चुनौती पेश कर रहे हैं। वह देश के सबसे युवा रक्षामंत्री हैं। सऊदी में युवाओं पर लगी बेहद सख्त पाबंदियों को भी वह कम कर रहे हैं। इससे सऊदी शाही परिवार की दशकों पुरानी परंपरा भी बदलती हुई दिख रही है। इससे पहले कभी ऐसा नहीं हुआ कि गद्दी के उत्तराधिकारियों की जमात में दूसरे नंबर पर खड़ा शख्स इतना मजबूत हो गया हो।

प्रिंस की महत्वाकांक्षाओं को देखते हुए अब कई सऊदी व विदेशी अधिकारियों को शक होने लगा है। उन्हें लग रहा है कि प्रिंस की इस सक्रियता का मकसद केवल सऊदी में बदलाव नहीं, बल्कि खुद गद्दी हासिल करना है। मालूम हो कि सलमान के चचेरे भाई 57 वर्षीय प्रिंस मुहम्मद बिन नायेफ सऊदी के अगले सुल्तान बनेंगे। प्रिंस नायेफ के अमेरिका के साथ करीबी ताल्लुकात हैं। उनके पास शाही परिवार के कई बुजुर्गों का भी समर्थन है। कई लोगों का मानना है कि सलमान नायेफ को कमजोर करने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में यह तय कर पाना मुश्किल है कि अगला सुल्तान कौन बनेगा और शायद इसी पहलू को ध्यान में रखते हुए अमेरिका भी दोनों के साथ रिश्ते कायम करने में जुटा है।

मालूम हो कि क्राउन प्रिंस नायेफ को डायबीटीज है और 2009 में एक जिहादी ने उन्हें मारने की भी कोशिश की थी। इस साल की शुरुआत में वह अपने परिवार के साथ लंबे समय तक अल्जीरिया में रहे थे। इस बीच उन्होंने सऊदी अधिकारियों और अमेरिका के अपने करीबी सहयोगियों से भी उन्होंने बात नहीं की। कयास लगाया गया कि वह अपने छोटे भाई प्रिंस सलमान के साथ टकराव से भाग रहे हैं। अमेरिका अधिकारियों ने अनुमान लगाया कि वह सलमान द्वारा गद्दी छिन लिए जाने की संभावनाओं से डरे हुए हैं।