सब्सिडी वाला LPG सिलेंडर 2.94 रुपए तो बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 60 रुपए हुआ मंहगा

Image credit: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (1 नवंबर): पिछले कुछ दिनों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है। लेकिन वो ऊंट के मुंह में जीरे की तरह है। इन सबके बीच आप की रसोई में और आग लगेगी। नवंबर से गैर सब्सि़डी सिलेंडरों की कीमत में 60 रुपये का इजाफा हो गया है। इससे पहले सितंबर के महीने में सिलेंडर के दाम में 59 रुपए का इजाफा किया गया था। इसके साथ सब्सिडी वाले सिलेंडरों में 2.94 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी।

दिल्ली में गैर सब्सिडी वाले सिलेंडरों की कीमत नवंबर से 880 रुपये होगी। रोचक बात ये है कि सब्सिडी वाले सिलेंडरों पर छूट की दर को सरकार ने नवंबर 2018 से बढ़ाने का फैसला किया है, अब ग्राहकों के खाते में 433.66 रुपए जमा होंगे जबकि अक्टूबर 2018 में यह राशि 376.80 रुपये थी। इंडियन ऑयल ने सितंबर में जारी बयान में कहा था कि  कहा कि सिलेंडर की कीमतों में यह बढ़ोतरी का प्रमुख कारण अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमतें बढ़ने और विदेशी मुद्रा विनिमय दर में उतार-चढ़ाव के चलते की गई थी। हालांकि कंपनी का कहना है कि कि सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत पर वास्तिवक प्रभाव मात्र 2.89 रुपए प्रति सिलेंडर पड़ेगा। इसकी मुख्य वजह उस पर जीएसटी का लगना है। अक्टूबर में ग्राहकों के खाते में 376.60 रुपए प्रति सिलेंडर सब्सिडी जमा की जाएगी जो सितंबर 2018 में 320.49 रुपए थी।

आपको बता दें कि सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर के दाम में जून से यह छठी बढ़ोतरी है। तब से लेकर अब तक दाम 14.13 रुपये बढ़ गए हैं। एलपीजी ग्राहकों को बाजार कीमत पर रसोई गैस सिलेंडर खरीदना होता है। हालांकि, सरकार साल भर में 14.2 किलो वाले 12 सिलेंडरों पर सीधे ग्राहकों के बैंक खाते में सब्सिडी डालती हैं। इंडियन ऑयल कॉर्प (आईओसी) ने बयान में कहा कि 14.2 किलो के सब्सिडाइज्ड एलपीजी सिलेंडर का दाम बुधवार आधी रात से 502.40 रुपये से बढ़कर 505.34 रुपये प्रति सिलेंडर हो जायेंगे। इसके साथ ही ग्राहकों के खातों में ट्रांसफर होने वाली सब्सिडी नवंबर 2018 में बढ़कर 433.66 रुपये प्रति सिलेंडर हो गयी, जो कि अक्टूबर महीने में 376.60 रुपये प्रति सिलेंडर पर थी।