कैंसर, HIV जैसी बीमारियों की 74 जीवनरक्षक दवाओं के दाम बढ़ने की आशंका

नई दिल्ली (7 फरवरी): देश में कैंसर और एचआईवी के इलाज के काम आने वाली कई जीवन रक्षक दवाओं सहित कुल 74 दवाओं पर सीमा शुल्क छूट खत्म कर दी गई है। बताया जा रहा है ऐसा इसलिए किया गया है जिससे घरेलू उत्पादकों को प्रोत्साहन मिल सके। लेकिन, इस फैसले से इन दवाओं के दाम बढ़ने की भी आशंका जताई जा रही है। 

रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्रीय उत्पाद एवं सीमाशुल्क बोर्ड (सीबीईसी) ने पिछले सप्ताह 74 दवाओं पर से मूल सीमा शुल्क की छूट वापस लिए जाने की अधिसूचना जारी की। कहा जा रहा है कि यह कदम 'मेक इन इंडिया' अभियान को बढ़ावा देने के मकसद से उठाया गया है। इससे अब जिन दवाओं पर सीमा शुल्क लगाया जाएगा, उनमें गुर्दे की पथरी, कैंसर में कीमोथेरेपी एवं विकिरण चिकित्सा, दिल की धड़कन से जुड़ी समस्याओं, मधुमेह व हड्डियों के रोग की चिकित्सा में काम आने वाली दवाइयां शामिल हैं। 

इसके अलावा इनमें संक्रमण दूर करने के लिए एंटीबायोटिक आदि भी शामिल हैं। हालांकि, ड्रग कंट्रोलर डॉ जीएन सिंह का कहना है कि सरकार भारतीय उद्योग जगत के हितों की रक्षा करना चाहती है। लेकिन दवाओं के दाम न बढ़ें, इसके लिए कोशिशें जारी हैं।