सब्ज़ियों ने बिगाड़ा पंजाब का ज़ायका

राजेश गौतम, रवि शर्मा, पटियाला (6 जुलाई): पंजाब में पिछले कुछ दिनों में सब्ज़ियों की कीमत तीन गुना हो गई है। सबसे ज़्यादा टेंशन लाल लाल टमाटर दे रहा है। 30 रुपए किलो बिकने वाला टमाटर 80 रुपए किलो बिक रहा है, जिसकी वजह से दुकानों पर ग्राहकों की कमी आ गई है। इन महंगाई की वजह बारिश और डीज़ल की बढ़ी कीमतों को बताया जा रहा है।

ज़मीन की सब्ज़ियों के भाव आसमान पर पहुंच गए हैं। लुधियाना के सब्ज़ी मंडी में जब लोग सब्ज़ी खरीदने पहुंचे तो सिर्फ मायूसी हाथ लगी। सभी सब्ज़ियों के दाम करीब करीब दो गुना बढ़ चुके हैं।

टमाटर 20 रूपए से 80 रुपए किलो प्याज 15 से  35 रुपए किलो आलू 10 रुपए से अब 30 किलो बंद गोभी 20 रूपए से 50 रुपए किलो करेला 30 रुपए से 60 रुपए किलो खीरा 20 रूपए से 50 रुपए किलो मटर 60 रूपए से 100 रुपए किलो

लुधियाना में ही सिर्फ लोग सब्ज़ियों का सितम नहीं झेल रहे हैं बल्कि पटियाला में भी सब्ज़ियों के दाम ने जायका बिगाड़ दिया है। हर रोज़ सब्ज़ियों के दाम में उछाल हो रहा है। लोगों को सब्ज़ियां तीन-तीन गुना तक कीमत देकर खरीदनी पड़ रही हैं। दरअसल बारिश के चलते कई फसलें खराब हो गयी हैं और मंडियों में दूसरे राज्यों से सब्जियों के न पहुंचने से सभी सब्जियों के रेट बढ़ रहे हैं। सब्ज़ी विक्रेताओं के अनुसार मंडी में हर रोज़ सब्जियों के नए रेट लगते हैं।

चाहे ग्राहक हों या फिर दुकानदार महंगाई ने हर किसी की कमर तोड़ रखी है। हर कोई सरकार से अपील कर रहा है कि सरकार जल्द से जल्द कोई कदम उठाए। दरअसल जून माह तक जहां लोकल सब्जियों की आवक होने से इनके भाव में गिरावट हुई थी, वहीं लगातार बारिश ने इनकी कीमतों में कई गुना इज़ाफा कर दिया है। दुकानदारों का कहना है कि अगर इसी तरह बारिश होती रही तो सब्ज़ियां और भी मंहगी हो सकती हैं। बढ़ती महंगाई के चलते अभी से ही मंडी में ग्राहकों का आना कम हो गया है।

वीडियो: [embed]https://www.youtube.com/watch?v=9JtHaACYmv0[/embed]