उत्तराखंड में राष्‍ट्रपति शासन लागू, प्रणब मुखर्जी ने लगाई मुहर

नई दिल्‍ली (27 मार्च): इस समय की बड़ी खबर उत्तराखंड से आ रही है, जहां पर केंद्र सरकार की सिफारिश के बाद राष्‍ट्रपति शासन लागू हो गया है। कल केंद्रीय कैबिनेट ने राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश की थी, जिस पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने मुहर लगा दी है।

सोमवार को कांग्रेस के मुख्यमंत्री हरीश रावत के विश्वास मत परीक्षण से पहले ही राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया। हालांकि पहले खबर आ रही थीं कि पीएम मोदी ने कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई थी, उसमें फिलहाल राष्ट्रपति शासन का फैसला टल गया था।

9 विधायकों के अयोग्य ठहराने से बिगड़ा गणित कांग्रेस के नौ विधायकों को अयोग्य ठहराने के विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल के कथित फैसले से 70 सदस्यीय विधानसभा में सदस्यों की प्रभावी संख्या 61 रह जाएगी। इन नौ विधायकों ने रावत के खिलाफ बगावत की और भाजपा से हाथ मिला लिया। ऐसे में रावत के पास छह समर्थकों के अलावा 27 कांग्रेस विधायक होंगे और इस तरह सदन में सत्तापक्ष के पास 33 विधायक होंगे। ऐसी स्थिति में रावत विश्वासमत परीक्षण जीत जाते।

कांग्रेस कर रही थी बहुमत का दावा कांग्रेस ने जोर देकर कहा कि उसकी सरकार को विधानसभा में बहुमत प्राप्त है और उसने विधिवत निर्वाचित सरकार को हास्यास्पद स्टिंग ऑपरेशन के आधार पर गिराने की कोशिश की निंदा की। दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय में आनन-फानन में बुलाये गये संवाददाता सम्मेलन में पार्टी महासचिव अंबिका सोनी ने मोदी सरकार एवं भाजपा की जमकर आलोचना की और उन पर राज्य की रावत सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया।