जानें रामनाथ कोविंद के राजनीतिक सफर और उनसे जुड़ीं ये बातें

नई दिल्ली(25 जुलाई): आज देश के 14वें राष्ट्रपति के रूप में रामनाथ कोविंद शपथ लेंगे। हाल तक वे बिहार के राज्यपाल थे। कोविंद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक रहे पहले राष्ट्रपति होंगे।

इनके राजनीतिक सफर में कई मोड़ आए। इन्होंने कई तरह की भूमिका निभाई। इन्होंने एक समाज सेवी, एक वकील, दलित नेता और एक राज्यसभा सांसद के तौर पर काम किया। 

71 साल के कोविंद का जन्म 1 अक्टूबर 1945 को कानपुर के परौंख गांव में हुआ था। उनका जन्म एक बहुत ही साधारण परिवार में हुआ। कोविंद के पिता एक किसान थे। उन्होंने कोविंद की पढ़ाई के लिए अपनी जमीन का एक हिस्सा बेच दिया था। रामनाथ कोविंद ने एक वकील के रूप में काम किया है। उन्होंने दिल्ली हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस किया। कोविंद ने एक वकील के रूप में दलितों को मुफ्त में कानूनी सहायता देने का काम किय

कोविंद उत्तर प्रदेश में पैदा होने वाले देश के पहले राष्ट्रपति होंगे। देश के तीसरे राष्ट्रपति जाकिर हुसैन भी उत्तर प्रदेश थे, लेकिन उनका जन्म यूपी में नहीं हुआ था। राष्ट्रपति कोविंद डाॅग प्रेमी हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जब वह दिल्ली में रहते थे उन्होंने 6 कुत्तों को पाल रखा था।