'चर्चा और बहस के लिए है संसद, ना कि हंगामे के लिए'

नई दिल्ली (23 फरवरी): राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के उद्बोधन के साथ संसद के बजट सत्र की शुरूआत हुई। राष्ट्रपति ने संसद के दोनों सदनों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी सरकार सबका साथ, सबका विकास के उदेश्य से काम कर रही हैं। 

रिपोर्ट के मुताबिक, इस मौके पर राष्ट्रपति परंपरा के अनुसार बग्घी से संसद भवन पहुंचे। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने साफ कहा कि संसद चर्चा के लिए है ना कि हंगामे के लिए। उन्होंने कहा, "सरकार सबका साथ और सबका विकास के उदेश्य से काम कर रही है। प्रधानमंत्री खनिज कल्याण योजना के तहत खनिज वाले इलाके में विकास का काम हो रहा है।"

सरकार की तरफ से शुरू की गई परियोजनाओं के बारे में बताते हुए राष्ट्रपति ने कहा,  "स्मार्ट सिटी के लिए 20 शहरों का चुनाव हो चुका है और तेजी से काम जारी है। साल 2018 तक सरकार हर घर में बिजली पहुंचाएगी। 2022 तक सभी के पास अपना घर होगा।" उन्होंने जापान की मदद से मुंबई अहमदाबाद के बीच शुरू हो रही हाई स्पीड ट्रेन पर काम शुरू होने की भी जानकारी दी।

इसके अलावा कई अन्य परियोजनाओं और स्कीमों के बारे में बताते हुए राष्ट्रपति ने बजट सत्र की शुरुआत की।