राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इंदिरा को बताया अब तक का सबसे स्वीकार्य PM

नई दिल्ली (14 मई): राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी को भारत का अबतक का सबसे स्वीकार्य प्रधानमंत्री बताया है। इंदिरा गांधी को याद करते हुए राष्ट्रपति मुखर्जी ने कहा कि वह 20 वीं शताब्दी के सबसे उल्लेखनीय व्यक्तित्वों में से एक थीं। राष्ट्रपति ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री ने अपनी आवाज सांप्रदायिक और सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ उठाई थी और राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर साहस, दृढ़ विश्वास और निडरता के साथ काम करना उनकी पहचान थी।


इंदिरा गांधी के जीवन पर आधारित एक किताब का विमोचन करते हुए राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि 1978 में कांग्रेस में दूसरी बार विभाजन के बावजूद राज्य विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने शानदार जीत हासिल की। बीते दिनों की बातें याद करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि 1977 में जब कांग्रेस हारी थी तब मैं मंत्री था। हारने के बावजूद उन्होंने मुझसे कहा कि हार से हतोत्साहित न हो, ये काम करने का समय है।


'इंडियाज इंदिरा- ए सेंटेनियल ट्रिब्यूट' नाम की इस पुस्तक का विमोचन के कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति मोहम्मद हामिद अंसारी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद थे। हालांकि खराब तबियत की वजह से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी इसमें शामिल नहीं हो पाईं।