ओबामा अप्रैल में सऊदी अरब जाएंगे, IS पर दबाव बढ़ाने के कदमों पर चर्चा होगी

 

 

वाशिंगटन (17 मार्च) :  अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा अगले महीने सऊदी अरब की यात्रा करेंगे। ओबामा खाड़ी के अरब नेताओं के सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। व्हाइट हाउस ने इस बात की पुष्टि कर दी है। बता दें कि पिछले साल ईरान के साथ अमेरिका का परमाणु समझौता अरब नेताओं, खासकर सऊदी अरब को नागवार गुज़रा था। समझा जा रहा है कि ओबामा अरब नेताओं के साथ रिश्तों में फिर से गर्मजोशी लाने का प्रयास करेंगे। साथ ही आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) पर दबाव बढ़ाने के लिए और क्या कदम उठाए जाएं, इस पर भी चर्चा होगी। 

गल्फ कोऑपरेशन काउंसिल (जीसीसी) के सदस्यों के साथ सम्मेलन 21 अप्रैल को होगा। बता दें कि ईरान के साथ परमाणु समझौते के बाद ओबामा ने पिछले साल कैम्प डेविड में भी ऐसे ही सम्मेलन का आयोजन किया था।

ओबामा अप्रैल में जर्मनी और ब्रिटेन की भी यात्रा करेंगे। लंदन में ओबामा क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय  और प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के साथ भेंट करेंगे। वहीं जर्मनी में वे हेनोवर इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी ट्रेड शो  में हिस्सा लेंगे। साथ ही जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल से भेंट करेंगे।

व्हाइट हाउस ने कहा है कि सऊदी अरब में सम्मेलन से अमेरिका-जीसीसी सुरक्षा सहयोग को मज़बूत करने की दिशा में पिछले एक साल में हुई प्रगति की समीक्षा करने का अवसर मिलेगा। साथ ही आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) पर दबाव बढ़ाने के लिए और क्या कदम उठाए जा सकते हैं, इस पर भी नेताओं को विचार करने का मौका मिलेगा। इसके अलावा क्षेत्रीय विवादों को सुलझाने की दिशा में भी चर्चा होगी।

जीसीसी देशों में बहरीन, कुवैत, ओमान, कतर, सऊदी अरब और यूएई शामिल हैं।