राष्ट्रपति ने 9 साल पुराने मामले में दो दोषियों की दया याचिका खारिज की

नई दिल्ली (23 जून): राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नौ साल पहले झारखंड में एक विकलांग युवक समेत एक ही परिवार के आठ सदस्यों की हत्या के मामले में दो दोषियों की दया याचिका खारिज कर दी। 

मीडिया में आई रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रपति ने दो दोषियों की दया याचिका खारिज कर दी है। इनके नाम मोफिल खान और मुबारक खान हैं। इन दोनों ने जून 2007 में हनीफ खान की तेज धार वाले हथियार से हत्या कर दी थी। ये घटना तब की है जब वह झारखंड के लोहरदगा जिले के मकंडू गांव में स्थित एक मस्जिद में नमाज पढ़ रहे थे। खान की हत्या करने के बाद दोनों ने उनकी पत्नी और एक विकलांग बेटे समेत छह बेटों की भी हत्या कर दी। 

स्थानीय पुलिस ने मोफिल और मुबारक और दो अन्य हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। जांच के बाद स्थानीय अदालत ने सभी आरोपियों को मौत की सजा सुनाई थी। हालांकि, झारखंड उच्च न्यायालय ने मोफिल और मुबारक की मौत की सजा को बरकरार रखा था। जबकि दो अन्य दोषियों की सजा में संशोधन करके उसे उम्रकैद में बदल दिया।