पांच लाख रुपये महीना होगी भारत के राष्ट्रपति की तनख्वाह

नई दिल्ली (25 अक्टूबर): सरकार के कई सचिवों से कम वेतन पर काम कर रहे भारत के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति की सेलरी पहली बार लगभग पांच लाख रुपये महीना किये जाने का प्रस्ताव गृह मंत्रालय ने पेश किया है। इस प्रस्ताव को शीघ्र ही संघीय सरकार की केबिनेट मीटिंग में रखा जायेगा। फिल्हाल राष्ट्रपति का वेतन डेढ़ लाख और उप राष्ट्रपति का वेतन सवा लाख रुपये महीना है। जबकि राज्यपालों को एकलाख दस हजाररुपये महीना ही मिलते हैं। गृहमंत्रालय के प्रस्ताव के मुताबिक राष्ट्रपति का संशोधित वेतन पांच लाख और उपराष्ट्रपति का वेतन साढ़े तीन लाख रुपये महीना हो जायेगा। माना जा रहा है कि शीत कालीन सत्र में प्रस्ताव को संसद से मंजूरी मिल जायेगी। इससे पहले सन् 2008 तक राष्ट्रपति की सेलरी 50 हजार, उपराष्ट्रपति की 40 हजार और राज्यपालों की सेलरी 36 हजार रुपये महीना ही थी।