कलाम के नक्श-ए कदम पर राष्ट्रपति कोविंद, नहीं देंगे इफ्तार पार्टी

नई दिल्ली (6 जून): इस साल राष्ट्रपति भवन में इफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं होगा। बताया जा रहा है कि राष्ट्रपति कोविंद ने राष्ट्रपति भवन से जुड़े अधिकारियों को निर्देश दिया है कि राष्ट्रपति भवन पूरे देश के लिए धर्मनिरपेक्ष भाव रखता है इसलिए इसमें धर्म विशेष से जुड़े किसी भी आयोजन को मंजूरी नहीं दी जाएगी। फिर चाहे वह इफ्तार पार्टी हो या फिर  किसी अन्य धर्म या समुदाय से जुड़ा कोई दूसरा कार्यक्रम। साथ ही राष्ट्रपति कोविंद का मानना है कि ऐसे आयोजनों पर देश के करदाताओं का पैसा खर्चना सही नहीं होगा।यह दूसरा मौका है जब राष्ट्रपति भवन में इफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं होगा। पूर्व में राष्ट्रपति कलाम ने भी अपने कार्यकाल के दौरान इफ्तार पार्टियों पर रोक लगा दी थी। साल 2002 से 2007 के बीच राष्ट्रपति भवन में इफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं किया गया था। तत्कालीन राष्ट्रपति कलाम ने इफ्तार की दावत पर होने वाले खर्च को निर्धन, बेसहारा बच्चों की शिक्षा के लिए दान कर देते थे।आपको बता दें कि राष्ट्रपति भवन में क्रिसमस के दौरान कैरल सिंगिंग और रमजान के दौरान इफ्तार दावत का आयोजन बरसों से चला आ रहा है। हालांकि किसी अन्य धर्म /समुदाय के त्योहारों से सम्बंधित दूसरे कार्यक्रम राष्ट्रपति भवन में पहले ही नहीं होते। ऐसे में अब कम से कम रामनाथ कोविंद के कार्यकाल के दौरान ये दोनों कार्यक्रम नहीं होंगे यह तय माना जा रहा है।