नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ट्रंप की पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले- हैकिंग के पीछे हो सकता है रूस

नई दिल्ली(12 जनवरी): अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने बुधवार को अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में डेमोक्रैटिक नैशनल कमिटी की कथित हैकिंग के पीछे रूस का हाथ होने की बात स्वीकार की। हालांकि ट्रंप ने साथ ही कहा कि रूस दोबारा ऐसा नहीं करेगा और उनके नेतृत्व में रूस का अमेरिका के प्रति सम्मान और बढ़ेगा।

- नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का उन्हें पसंद करना उनकी एक उपलब्धि है, देनदारी नहीं।

- उन्होंने कहा, 'ट्रंप प्रशासन के अंदर रूस का अमेरिका के प्रति सम्मान ज्यादा बढ़ेगा।' ट्रंप ने साथ ही रूस के पास उनके बारे में कुछ गोपनीय सामग्री की खबरों को किसी बीमार व्यक्ति के दिमाग की उपज बताया। ट्रंप ने इन खबरों को फर्जी करार दिया।

-अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को लेकर बुधवार को सनसनीखेज दावे सामने आए जिनमें कहा गया है कि उनको रूस ने कई वर्षों से ‘तैयार किया है’ और मॉस्को के पास उनको लेकर नितांत व्यक्तिगत सूचना है। इसको खारिज करते हुए ट्रंप ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की और कहा कि यह 'नाजी जर्मनी में रहने' जैसा है। हिलरी क्लिंटन को हराने में रूस की हैकिंग से मदद मिलने के आरोपों पर ट्रंप ने कहा, रूस एक मात्र ऐसा देश नहीं है जो अमेरिका पर साइबर अटैक करता है बल्कि चीन जैसे देश भी ऐसा करते रहे हैं।