VIDEO: ये कैसा विकास, महिला के लिए बनाई गई बांस की एंबुलेंस

ओडिशा (24 जुलाई): आजादी के 70 साल बाद भी देश के कई हिस्सों में पक्की सड़क नसीब नहीं है। इसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। ओडिशा के कंसाबुंदेल गांव में एक गर्भवती महिला को डिलीवरी के लिए बांस से कपड़े को बांधकर उसमें महिला को बिठाकर परिवारवाले उसे 20 किलोमीटर दूर मौजूद अस्पताल ले जाना पड़ा।

गांव तक पक्की सड़क नहीं है और जो कच्चा रास्ता है वो पेड़ गिरने की वजह से बंद है। एंबुलेंस गांव तक आ नहीं सकती। लिहाजा गर्भवती महिला के परिवारवाले बांस के इस एंबुलेंस का इंतजाम करते हैं। बांस से एक कपड़े को बांधा जाता है और महिला को उसमें बिठा दिया जाता है। उसके बाद बांस को कंधे पर लिए परिवारवाले आगे बढ़ते हैं। ये बांस ही इन गरीबों का एंबुलेंस है और ये 4 लोग ही इस एंबुलेंस के पहिए।

रास्ते में पड़ने वाले हर नदी नाले को भी ये लोग किसी तरह मुश्किल से पार करते हैं। लंबा रास्ता तय करने के बाद ये लोग पक्की सड़क तक पहुंचते हैं, जहां एक एंबुलेंस इनका इंतजार कर रहा होता है। यहां से फिर इस महिला को एंबुलेंस में बिठाकर अस्पताल तक ले जाया जाता है।

महिला को किसी तरह अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उसने बच्चे को जन्म दिया। लेकिन मरीजों और गर्भवती महिलाओं को अस्पतालों तक ले जाने की ऐसी कोई पहली तस्वीर नहीं है। ये गर्भवती महिला किस्मतवाली थी कि मां और बच्चे दोनों की जिंदगी बच गई वरना ऐसे कई मामलों यहां के मौत के आंकड़े कम नहीं हैं।