प्रशांत भूषण ने राफेल डील में भ्रष्टाचार के आरोप, पर्रिकर ने आरोपों को बताया बेबुनियाद

स्वराज अभियान की प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रशांत भूषण ने राफेल डील में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए उसे रद्द करने की मांग की। प्रशांत भूषण के मुताबिक मोदी सरकार ने कई गुना महंगी कीमत पर डील की। उस डील पर निर्माता कंपनी डसाल्ट एविएशन के साथ स्कॉर्पिन की निर्माता कंपनी थेल्स के सीईओ के साथ मनोहर पर्रिकर ने दस्तखत किए। जवाब में पर्रिकर ने आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए राफेल की डील को सबसे बेहतर करार दिया है। उन्होंने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के आदेश का जिक्र करते हुए डील में कीमत कम करने के साथ ही बेहतरी की बात कही है। वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=5pEPrmkWjck[/embed]