पीएम मोदी के पत्र का पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दिया ये जवाब

नई दिल्ली(3 अगस्त): पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी हाल ही में पद मुक्त हुए हैं। उन्होंने आज अपने ट्विटर अकांउट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिखा उन्हें खत शेयर किया है। मुखर्जी ने खत शेयर करते हुए लिखा कि पिछले दिन मुझे पीएम नरेंद्र मोदी की तर से लिखा हुआ खत मिला। इस खत ने मेरा दिल छू लिया, इसे मैं आप सब के साथ भी साझा कर रहा हूं। पीएम मोदी ने खत में लिखा कि अब आप अपनी जिंदगी का नया सर शुरू करने जा रहे हैं। आपने बड़ी ही खूबी से अपने कार्यकाल के दौरान अपनी जिम्मेदारियां निभाईं। मोदी ने लिखा मैं नया था और केंद्र स्तर पर मुझे कोई अनुभव नहीं था लेकिन प्रणब मुखर्जी दिशानिर्देश के माध्यम से हम कई चीजें कर सके, जिसे हमने किया।"

उन्होंने कहा कि मुखर्जी के साथ उनकी हर मुलाकात उनके जीवन में मार्गदर्शक की तरह काम करेगा। एक पिता की तरह मुखर्जी ने हर पल मार्गदर्शक किया। पीएम ने लिखा, "प्रणब दा के साथ तीन साल काम कर मैं हतप्रभ रहा कि इतने समय सरकार का हिस्सा रहने और फैसले लेने के पद पर रहने के बावजूद उन्होंने मेरी सरकार के फैसलों की न तो कभी आलोचना की और न ही अतीत की सरकारों के साथ उनकी तुलना की।"  

पीएम मोदी ने कहा कि हालांकि वह और राष्ट्रपति दोनों ही बिल्कुल अलग राजनीतिक पृष्ठभूमि से आए हैं और दोनों ही अलग-अलग विचारधाराओं के बीच पले-बढ़े हैं, लेकिन 'प्रणब दा ने मुझे कभी इसका अहसास नहीं होने दिया। बता दें कि 24 जुलाई को मुखर्जी की विदाई पार्टी के समय भी मोदी ने उनकी कापी सराहना की थी। अब रामनाथ कोविंद देश के नए महामहिम हैं। मुखर्जी कांग्रेस पार्टी से रहे हैं लेकिन मोदी सरकार के दौरान भी उनका पीएम मोदी से किसी तरह का मतभेद नहीं रहा है।