RSS पाकिस्तानी संगठन नहीं, प्रणब के आने पर बेवजह बवाल: गडकरी

नई दिल्ली (29 मई): देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी द्वारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के कार्यक्रम का न्योता कुबूल करने वाला मामले को लेकर सियासी गलियारों में जमकर राजनीति की जा रही है। इस सबको लेकर कांग्रेस के एक नेता ने सवाल खड़ा किया तो बीजेपी ने इसे तुरंत आड़े-हाथों लेते हुए करारा जवाब दिया है।भाजपा नेता और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि क्या RSS कोई पाकिस्तानी संगठन है, जो इस तरह मामले को उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 'लोग तो दारू की दुकान पर जाते हैं, लेडीज बार में जाते हैं। ऐसे में अगर पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यक्रम में जा रहे हैं तो इसमें बुराई क्या है।नितिन गडकरी ने कहा कि सभी मुद्दों पर राजनीति करना बिल्कुल भी उचित नहीं है। RSS के कार्यक्रम में जाने को लेकर टिप्पणी नहीं की जानी चाहिए। वहीं इस पुरे प्रकरण को लेकर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा कि देश को RSS की विचारधारा खतरा है। हमें देश को इस विचारधारा से बचाने की जरुरत है।