साध्वी प्रज्ञा के फिर बिगड़े बोल -'हम नाली साफ करवाने के लिए सांसद नहीं बने'

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(21 जुलाई): भारतीय जनता पार्टी की सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि 'हम नाली साफ करवाने के लिए नहीं बने हैं। हम आपका शौचालय साफ करने के लिए बिल्कुल नहीं बनाए गए हैं। हम जिस काम के लिए बनाए गए हैं, वो काम हम इमानदारी से कर रहे हैं।'  प्रज्ञा ठाकुर का बयान ऐसे समय में आया है जब प्रधानमंत्री मोदी स्वच्छता को लेकर जागरूकता फैला रहे हैं। अभी कुछ दिन पहले बीजेपी सांसद अनुराग ठाकुर और हेमा मालिनी ने संसद परिसर में झाड़ू लगाकर सफाई की थी।

इससे पहले भी प्रज्ञा सिंह ठाकुर अपने विवादित बयान को लेकर घिर चुकी हैं। लोकसभा चुनाव से पहले प्रज्ञा ठाकुर ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को 'देशभक्त' करार देकर भूचाल ला दिया था। फिल्म अभिनेता और तमिलनाडु की राजनीति में सक्रिय कमल हासन के गोडसे को लेकर आए बयान पर प्रतिक्रया मांगी गई तो उन्होंने कहा था, "नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। आतंकवादी कहने वाले लोग स्वयं के गिरेबान में झांककर देखें, अबकी चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा।"

प्रज्ञा सिंह ठाकुर के इस बयान पर विवाद मचते ही उनकी पार्टी बीजेपी ने किनारा कर लिया और मध्य प्रदेश के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने कहा, "साध्वी ने कौन-सी बात किस परिस्थिति में कही है, इस बात की हमें जानकारी नहीं है। हम इतना जानते हैं कि नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की हत्या की थी और हत्या करने वाले को उसी नजर से देखा जाना चाहिए, बीजेपी का यह मत कतई नहीं हो सकता।"

बता दें प्रज्ञा ठाकुर का विवादों से चोली दामन जैसा साथ है। बीजेपी में शामिल होने के बाद से ही सुर्खियों में बनी हुई हैं. हेमंत करकरे से लेकर नाथूराम गोडसे तक पर बयान तक प्रज्ञा ठाकुर पर जमकर बहस हुई। यहां तक की खुद पीएम मोदी ने प्रज्ञा ठाकुर को लेकर कह दिया था, वह गांधी जी पर दिए बयान के लिए उन्हें कभी माफ नहीं करेंगे। पार्टी की किरकिरी को देखते हुए प्रज्ञा ठाकुर को माफी भी मांगनी पड़ी थी।