BREAKING: प्रद्युम्न की हत्या बस कंडक्टर ने नहीं की थी- CBI

गुड़गांव (8 नवंबर): 8 सितंबर को गुरुग्राम रेयान स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न की गला के मामले में CBI ने बड़ा खुलासा किया है। CBI का कहना है कि इस हत्याकांड में बस का कंडक्टर शामिल नहीं था। CBI का कहना है इस सनसनीखेज हत्याकांड को बस कंडक्टर ने नहीं बल्कि स्कूल के ही 11वीं के इस छात्र ने अंजाम दिया है। इस सिलसिले में CBI ने 11वीं कक्षा के एक छात्र को गिरफ्तार किया है। CBI का कहना है कि 16 साल का आरोपी छात्र 11वीं में पढ़ता है। CBI के मुताबिक परीक्षा और PTM टालने के लिए आरोपी छात्र ने प्रद्युम्न का मर्डर किया। बताया जा रहा है कि आरोपी छात्र की मानसिक अवस्था सही नहीं थी और दवाई भी चल रही थी।

इस वारदात के बाद सबसे पहले बस कंडक्टर अशोक कुमार को ही गुरुग्राम पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उस वक्त आरोपी ने हत्या की बात कबूल की थी, लेकिन बाद में वह अपने बयान से पलट गया था। उसने कहा था कि दबाव में आकर उसने हत्या की बात स्वीकार की थी। इसके बाद भारी दबाव के बीच इस मामले की जांच CBI को दी गई थी।

CBI ने इस मामले में बस कंडक्टर के साथ ही स्कूल के माली हरपाल, कई टीचर, नॉन टीचिंग स्टाफ और मैनेजमेंट जुड़े लोगों से पूछताछ की थी. यहां तक की CBI ने बस कंडक्टर और माली के साथ रेयान इंटरनेशनल स्कूल जाकर क्राइम सीन रिक्रिएट किया था. जिस टॉयलेट में वारदात को अंजाम दिया गया वहां भी जांच की गई थी।

वहीं आरोपी छात्र के पिता ने कहा कि पहले दिन से ही हम पुलिस और फिर CBI की मदद और सहयोग कर रहे हैं। कई राउंड में पूछताछ के बाद उन्होंने मेरे बच्चे को ही फंसा दिया है। मेरे बेटे ने किसी का मर्डर नहीं किया है बल्कि वह तो मदद कर रहा था।

आपको बता दें कि 8 सितंबर को गुरुग्राम के भोंडसी स्थित स्कूल परिसर में 7 साल के प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। प्रद्युम्न हत्या मामले की जांच अब CBI कर रही है। हत्या के दूसरे दिन इस मामले में पुलिस ने आरोपी बस कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार किया था, लेकिन अब तक मामला सुलझ नहीं पाया है कि आखिर 7 साल के प्रद्युम्न की हत्या क्यों की गई, जबकि उसके पिता की किसी से दुश्मनी नहीं है। हत्याकांड के बाद बस के कंडक्टर और ड्राइवर के परिवार ने बातचीत में कहा था कि स्कूल के जिस टॉयलेट में प्रद्युम्न की हत्या हुई थी वहां कोई और भी था।