सेना भर्ती में अभ्यर्थियों की तलाशी में निकली शक्तिवर्धक दवाइयां, इंजेक्शन

नई दिल्ली (6 अगस्त): कानपुर में सेना में भर्ती होने के लिए आये युवक शारीरिक दक्षता पास करने के लिए शक्तिवर्धक दवाओं का इस्तेमाल कर रहे थे। युवकों की तलाशी लेने पर उनके पास से मिले कई नशीले इंजेक्शन से इसका खुलासा हुआ।   - कानपुर कैंट के अखौरा रेजीमेंट ग्राउंड में सेना भर्ती चल रही है। - इस भर्ती में कई जिलो के युवक अपनी दक्षता साबित करने की होड़ में शक्तिवर्धक टेबलेट, इंजेक्शन का सेवन करके दौड़ में हिस्सा ले रहे हैं।  - सेना के जवानों द्धारा जब युवकों के बैगों की चेकिंग हुई तो इन युवकों के बैगों से भारी मात्र में शक्तिवर्धक दवाइयां, इंजेक्शन, मल्टी विटामिन के कैप्सूल बरामद हुआ। - सैन्य अफसरों न जामा तलाशी के बाद बरामद हुई दवाइयों को नष्ट कराया।  - सैन्य अफसरों का मानना है कि इन्हीं की वजह से युवक दौड़ में ही हांफने लगते हैं।  - सेना भर्ती में आने वाले युवकों के बैगों से मिली प्रतिबंधित दवाइयों को मैदान स्थल पर ही एकत्र करा उन्हें बोरियों में भर फिकवा दिया गया।  - नशीली दवाइयों का सेवन और पान मसाला खाने की वजह से ही मैदान में दौड़ लगाने के पहले ही चक्कर में 25 फीसदी युवक शुक्रवार को बाहर हो गए।  - तीन सौ की दौड़ में बमुश्किल 22-23 युवक ही 1600 मीटर की दौड़ समय पर पूरी कर पा रहे थे।  - इन दवाइयों के मिलने से सैन्य अफसरों ने आने वाले युवकों से हिदायत दी है कि भविष्य में इस तरह की दवाइयों का सेवन न करें। - सैन्य अफसरों ने आने वाले लोगों से अपील की है कि वे लोग दौड़ से लेकर अन्य चीजों की प्रैक्टिस करें। - युवको को नशीली दवाओ के सेवन से पूरी तरह परहेज रखने को कहा गया।   - दवा या अन्य चीजों के सेवन से बीमारियां तो ग्रसित करेंगी ही, साथ ही दौड़ में हांफने लगेंगे।  - अगर अन्य जिलों की होने वाली भर्ती में यदि किसी के पास से प्रतिबंधित चीजें मिली तो उन्हें आउट किया जाएगा।  - सैन्य अफसरों ने इस पर गंभीर चिंता भी जताई है।