2002-03 मुंबई धमाकों में तीन आरोपियों को उम्रकैद

नई दिल्ली (6 अप्रैल): मुंबई में 2002-03 में हुए धमाकों में पोटा की स्पेशल कोर्ट ने 10 आरोपियों का दोषी पाया है, जिनमें से अदालत ने तीन आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

कोर्ट ने मुख्य आरोपी मुजम्मिल समेत वाहिद अंसारी और फरहान को आजीवन कारावास की सजा दी है। कोर्ट ने तीन आरोपियों को दस साल की सजा दी, उन्हें दो साल और जेल में काटने होंगे। इसके अलावा कोर्ट ने बाकी चार दोषियों को रिहा कर दिया।

कोर्ट ने कहा कि जमानती कार्रवाई पूरी करने के बाद वो रिहा होंगे, क्योंकि उन्होंने सजा काट ली है। इसलिए कोर्ट ने औपचारिकताएं पूरी करने के बाद उन्हें रिहा करने का आदेश दिया है। अभियोजन पक्ष ने मंगलवार को मुजम्मिल अंसारी के लिए मौत की सजा जबकि चार अन्य के लिए उम्रकैद की सजा की मांग की थी।