गोधरा कांड के बाद भड़के दंगों के सभी 26 आरोपी सबूतों के अभाव में बरी

गांधीनगर (3 फरवरी): गोधरा कांड के बाद भड़के दंगों के सभी 28 आरोपियों को कलोल कोर्ट ने सबूतों के अभाव में बरी कर दिया है। बरी किए गए लोगों में कलोल नागरिक सहकारी बैंक के चेयरमैन गोविंद पटेल भी शामिल हैं। इन लोगों पर आगजनी, हिंसा और पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगा था।

आपको बता दें कि 27 फरवरी 2002 को गोधरा में साबरमती ट्रेन का कोच जलाए जाने के बाद गांधीनगर के कलोल स्थित पलियाड़ गांव में हिंसा फैल गई थी। करीब 250 लोगों की भीड़ ने अल्पसंख्यकों के गांव में आगजनी और हिंसा को अंजाम दिया था। इस भीड़ पर एक दरगाह को भी नुकसान पहुंचाने का आरोप था। कोर्ट ने आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं होने की वजह से तमाम आरोपियों को बरी करने का आदेश दिया। गौरतलब है कि सुनवाई के दौरान सभी गवाहों ने आरोपियों को पहचानने से इनकार कर दिया था।