News

बॉलीवुड के वो मशहूर चाइल्ड आर्टिस्ट्स अब कहां गायब हैं ?

अंकित तोमर, नई दिल्ली (14 नवंबर): बॉलीवुड फिल्मों के वो फेमस चाइल्‍ड आर्टिस्‍ट। कौन भूल सकता है उन्हें। उनके चेहरे अच्‍छी तरह याद होंगे आपको। आप सोचते होंगे कि आप जैसे ही उन्‍हें देखेंगे पहचान लेंगे, लेकिन मुश्‍किल है। क्‍यूट और मासूम से दिखने वाले ये बाल कलाकार अब बड़े होने के साथ काफी स्‍मार्ट भी हो गए हैं।

कुछ बॉलीवुड से गायब हो चुके हैं तो कुछ हिंदी सिनेमा में पहचान बनाने की कोशिश कर रहे हैं। बाल दिवस के दिन हिंदी सिनेमा उन्ही मशहूर स्टार्स के बारे में जानिए।

बेबी गुड्डू 80 के दशक में ज्यादातर फिल्मों में बाल कलाकार का रोल करने वाली बेबी गुड्डू आपको याद है। बेबी गुड्डू उस दौर की सबसे मशहूर चाइल्ड एक्टर थी। बेबी गुड्डू का असली नाम शाहिंदा बेग था। वो फिल्म मेकर एमएम बेग की बेटी हैं। बेबी गुड्डू ने औलाद, समुंदर,परिवार, घर-घर की कहानी, मुल्जिम, नगीना और गुरू समेत करीब 32 फिल्मों में काम किया था।

करीब 3 साल की उम्र में बेबी गुड्डू ने हिंदी फिल्मों में काम करना शुरू किया। एक्ट्रेस किरण जुनेजा बेबी गुड्डू को बॉलीवुड में लेकर आई। उन्हें बाल कलाकार के तौर पर फिल्में दिलवाई। 1984 में बेबी गुड्डू  की पहली फिल्म आई थी पाप और पुण्य। बेबी गुड्डू को पहली ही फिल्म  में खूब पसंद किया गया।  उस दौर में टूथपेस्ट और सॉफ्ट ड्रिंक के एड में काम किया। फिल्मों और विज्ञापनों की वजह से वो घर-घर में मशहूर हुईं। बेबी गुड्डू को उन दिनों बॉलीवुड के सितारे खूब लाड़ प्यार देते थे।

राजेश खन्ना को बेबी गुड्डू इतनी पसंद थी कि उन्होंने बेबी गुड्डू के लिए एक टेलीफिल्म बनाई। बेबी गुड्डू के लीड रोल वाले उस फिल्म का नाम था आधा सच आधा झूठ। एक बाल कलाकार के रूप में उनकी आखिरी फिल्म 1991 में आई घर परिवार थी। 11 साल की उम्र के बाद बेबी गुड्डू ने फिल्मों में काम करना छोड़ दिया।  बेबी गुड्डू इसके बाद अपने पढ़ाई लिखाई पर ध्यान देने लगी।

बेबी गुड्डू अब दुबई में रहती हैं। वहां वो अमीरात एयरलाइंस के साथ काम करती हैं। बेबी गुड्डू की अब शादी हो चुकी है। लेकिन बॉ़लीवुड में उनका जो बचपन बीता उसे वो कभी नहीं भूल पाएंगी।

दर्शील सफारी साल 2007 में फिल्म 'तारे जमीन पर' रिलीज हुई थी। फिल्म में दर्शील की एक्टिंग के कायल सभी हो गए थे कहने वालों ने तो ये भी कहा था कि दर्शील सफारी की एक्टिंग मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान पर भी भारी पड़ी थी। इस फिल्म में दर्शील ने डायलेक्सिया से पीड़ित बच्चे की भूमिका में जान डाल दी थी जिसकी वजह से उन्हें साल 2008 में फिल्मफेयर बेस्ट एक्टर का अवार्ड भी मिला था हालांकि तारे जमीं है की सक्कसेस के बाद दर्शील इक्का दुक्का फिल्मों में जरुर नजर आएं लेकिन ग्लैमर इंडस्ट्री की भीड़ में दर्शील भी कहीं खो से गए।

दर्शील डांस रियलिटी शो झलक दिखला जा में भी दिखे थे। उन्होंने जोकोमॉन, बम बम बोले और मिडनाइट चिल्ड्रेन फिल्म में काम किया था। अब दर्शील बतौर हीरो बॉलीवुड में आने की तैयारी कर रहे हैं।

परजान दस्तूर साल 1998 में आई फिल्म कुछ कुछ होता है । इस फिल्म में छोटे से सरदार बच्चे को कौन भूल सकता है। फिल्म में परजान क्यूट पंजाबी बॉय बने ये हैं । परजान दस्तूर जो इस फिल्म में अक्सर तारे गिनते नजर आता था। आज परजान भले ही जवान हो गया है लेकिन कुछ साल पहले तक ये चाइल्ड आर्टिस्ट सबका चहेता था। परजान ने कई ऐड फिल्मों में काम किया था। अब परजान बड़े हो गए हैं और काफी हैंडसम दिखते हैं।

मयूर राज वर्मा 70 और 80 के उस दशक में अमिताभ बच्चन की कई फिल्मों में मयूर राज वर्मा ने उनके बचपन का रोल किया था। ज्यादातर फिल्मों में उन्होंने अमिताभ बच्चन के बचपन का किरदार निभाया। मयूर को इसी वजह से यंग अमिताभ कहकर बुलाया जाने लगा। उन दिनों मयूर सबसे अधिक पैसे चार्ज करने वाले बाल कलाकार थे।

मुकद्दर का सिकंदर’ उनकी पहली फिल्म थी। तब ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई थी। इसकी वजह से मास्टर मयूर रातों-रात स्टार बन गए थे। आज मयूर कहां हैं ये जानकर आप दंग रह जाएंगे। मयूर राज वर्मा आजकल वेल्स में रह रहे हैं। उनके दो बच्चे भी हैं। मयूर आज वेल्स के जाने-माने व्यवसायी हैं। वहां वो अपनी पत्नी के साथ मिलकर इंडियाना रेस्टोरेंट चला रहे हैं। उनकी पत्नी जानी-मानी शेफ हैं।

एहसान चानना कभी अलविदा ना कहना, माई फ्रेंड गणेशा और वास्तु शास्त्र जैसी फिल्मों में काम कर चुकी अहसास बॉलीवुड की सबसे फेमस बाल कलाकारों में से एक है। जिन्होंने अब पढाई पूरी करने के बाद दुबारा टेलीविज़न में वापसी कर ली है। एहसान अब काफी खूबसूरत दिखती है। उन्होंने बतौर बाल कलाकार अपनी हर फिल्म में लड़के का रोल किया था।

जुगल हंसराज 80 के दशक में फिल्म मासूम से एक प्यारा सा बच्चा बॉलीवुड में लॉन्च हुआ। जुगल हंसराज को इस फिल्म में बहुत पसंद किया गया। जुगल हंसराज ने बतौर हीरो बॉ़लीवुड की कई फिल्मों में काम किया लेकिन उन्हें बहुत ज्यादा सफलता नहीं मिली। 1994 में जुगल हंसराज ने आ गले लग जा फिल्म से बॉलीवुड बतौर हीरो एंट्री की थी। इस फिल्म में उनकी हीरोइन उर्मिला मतोंडकर थी। वहीं उर्मिला जो फिल्म मासूम में उनकी बहन के रोल में थी। बाद के दिनों में जुगल ने मोहब्बते, पापा कहते हैं, करिश्मा और सलाम नमस्ते जैसी फिल्मों में काम किया।

श्वेता प्रसाद चाइल्‍ड आर्टिस्‍ट के तौर पर कभी बहुत मशहूर रहीं श्वेता प्रसाद। श्वेता अब तमिल फिल्मों की एक्ट्रेस हैं। बड़ी होकर थिएटर के साथ तमिल फिल्‍मों में काम कर रही हैं। श्‍वेता ने एक टीवी सीरियल में श्रुति के रूप में अपनी पहचान बनाई थी। इसके साथ ही फिल्‍म मकड़ी और इकबाल में उनकी एक्टिंग को बहुत सराहा गया। फिल्म मकड़ी के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड भी मिल चुका है। श्वेता प्रसाद का नाम प्रॉ़स्टूशन रैकेट में भी आया था। इस वजह से वो विवादों में भी रही थी लेकिन अब बीती बातें भूलकर वो साऊथ की फिल्मों में अच्छा काम कर रही हैं।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top