पोप की टीनएजर्स को सलाह: 'खुशी की तलाश अपने फोन में ना करें'

नई दिल्ली (26 अप्रैल): पोप फ्रैंसिस ने टीनएजर्स को सलाह दी है कि वे खुशी की तलाश अपने फोन में ना करें। पोप ने कहा कि लोग कभी भी एप्स के जरिए असली आनंद को महसूस नहीं कर पाएंगे। उन्होंने युवाओं से वैटिकन सिटी में वीकेंड मास में यह अपील की।

पोप फ्रैंसिस के जुबली ईयर के मौके पर तमाम कार्यक्रम हो रहे हैं। जिनमें शामिल होने के लिए हजारों की संख्या में टीनएजर्स रोम गए। जिनसे उन्होंने कहा कि आपको खुशियां अपने फोन्स में तलाश नहीं करनी चाहिए।

ब्रिटिश अखबार 'द इंडिपेडेंट' के मुताबिक, पोप ने टीनएजर्स से कहा, "आपकी खुशी का कोई कीमत नहीं है। इसे खरीदा या बेचा नहीं जा सकता। यह कोई मोबाइल एप्लीकेशन नहीं है। जिसे आप मोबाइल फोन में डाउनलोड करते हैं। यहां तक कि सबसे नए वर्जन्स भी आपको बड़े होने में मदद नहीं कर सकते और आपको प्रेम में आज़ाद होने में भी।"

पोप साधारण तौर पर तकनीक और एप्स के विरोध में नहीं रहे हैं। उनकी फीड्स ट्विटर, इंस्टाग्राम और दूसरे सोशल नेटवर्किंग माध्यमों के जरिए भेजे जाते रहे हैं। जहां वह कई भाषाओं में खबरें प्रसारित करते हैं। लेकिन उन्होंने सलाह दी कि ये सभी भी उन्हें खुश नहीं कर सकते। उन्होंने कहा, "हमेशा वहां जाने के लिए तैयार रहें, जहां परिवार, पादरी, स्कूल का नेटवर्क हो।"