पोप ने चूमे हिंदू-मुस्लिम माइग्रेंट्स के पैर, बोले- हम सब एक ही ईश्वर की संतान

कासेलनोवो डि पोटरे (25 मार्च): पोप फ्रांसिस ने मुस्लिम, रूढ़िवादी, हिंदू और कैथोलिक शरणार्थियों के पांव चूमकर एक नया मिसाल पेश किया है। उन्होंने इसके बाद कहा कि हम सब ईश्वर के संतान हैं। 

शांति और भाईचारे का मिसाल पेश करते हुए उन्होंने आतंकवाद की निंदा की। उन्होंने कहा कि हथियार उद्योग द्वारा लोगों को खून का प्यासा बनाया जा रहा है। वे ईस्टर वीक मास के दौरान रोम के बाहर कासेलनोवो डि पोटरे में एक शरण स्थल में बोल रहे थे। यहां पर उन्होंने अपने स्पीच में कहा कि चाहे हमारे धर्म अलग हैं कल्चर अलग है लेकिन हम सभी भाई हैं और शांति से रहना चाहते हैं।