पोर्न देखने से भी ज्‍यादा अनैतिक है यह काम करना...

नई दिल्‍ली (31 जनवरी): हाल ही में हुए रिसर्च में एक ऐसी बात सामने आई है, जिसने सभी को चौंका कर रख दिया है। रिचर्स के अनुसार पर्यावरण की उपेक्षा करना पोर्न देखने से ज्यादा अनैतिक काम है।

अमेरिकी गैर-सरकारी संगठन बारना समूह के मुताबिक 13 से 24 साल के लड़के-लड़कियों में से एक तिहाई (32 फीसदी) ने माना कि पोर्न तस्वीरें गलत हैं जबकि बड़ी उम्र के युवाओं में 54 फीसदी इसे गलत मानते हैं। इस अध्ययन में एक तिहाई ने माना कि कामुक सामग्रियां (27 फीसदी) पढऩा या सेक्स से जुड़े टीवी या फिल्मों के सीन (24 फीसदी) देखना अनैतिक है। अध्ययनकर्ताओं का कहना है कि जिस काम से पर्यावरण को क्षति पहुंचती है उसे टीनेजर व युवा ज्यादा अनैतिक मानते हैं।

इस अध्ययन से यह जानकारी भी मिली कि टीनेजर अपने साथी के साथ कितनी बार यौन विषयक बातें करते हैं। 18 से 24 साल की उम्र के 34 फीसदी और 16 साल से कम उम्र के 18 फीसदी ने स्वीकार किया कि वे अपने दोस्तों के साथ यौन विषयक बातें अक्सर करते रहते हैं। जिन लोगों ने यह स्वीकार किया कि वे अपने दोस्तों के साथ यौन विषयक बातें करते हैं, उनमें से आधे ने माना कि वे उसमें रुचि लेते हैं और बढ़ावा देते हैं (36 फीसदी) या उन्हें हल्के तौर पर (16 फीसदी) लेते हैं। बारना समूह के एडीटर इन चीफ रोक्साने स्टोन का कहना है, यह हमें दिखाता है कि नैतिक रूप से हमारी संस्कृति के भीतर जो पोर्न साहित्य माना जाता है, उसमें एक महत्वपूर्ण पीढ़ीगत बदलाव चल रहा है।

इस अध्ययन के लिए बारना समूह ने 3771 प्रतिभागियों के साथ 5 ऑनलाइन सर्वेक्षण किया था। शोधकर्ताओं के मुताबिक स्मार्टफोन, टैबलेट और लैपटॉप पर पोर्न तस्वीरें सर्वसुलभ है। इसने लोगों तक पोर्न सामग्रियों के पहुंच में क्रांति ला दी है। अध्ययनकर्ताओं का कहना है, युवाओं में यह बदलाव तब और भी जाहिर होता है जब पोर्न सामग्रियों को लेकर निजी चयन का मामला सामने आता है।