पंजाब: किसान की मौत पर शुरू हुई सियासत...

आशीष शर्मा, बरनाला (29 अप्रैल) : पंजाब के बरनाला में किसान और उसकी मां की खुदकुशी के मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने इस मामले में जिन आरोपी आढ़तियों के खिलाफ केस दर्ज किया था। अब अकाली दल के नेता उनके समर्थन में उतर आए हैं। आढ़तियों के समर्थन में उन्होंने बरनाला पुलिस कमिश्नर मुख्यालय में धरना दिया है।

दरअसल, जोधपुर गांव के किसान बलजीत ने आढ़तिए तेजा सिंह से तीन लाख का कर्ज लिया था। बदले में 2 एकड़ की जमीन गिरवी रख छोड़ी थी। तय वक्त पर कर्ज नहीं चुकाने पर आढतिए ने अदालत का दरवाजा खटखटाया। अदालत के आदेश पर पुलिस जमीन पर कब्जा लेने पहुंची। 

किसानों ने विरोध भी किया, लेकिन पुलिस अड़ी रही। हारकर किसान बलजीत सिंह और उसकी मां बलवीर कौर ने जहर पी लिया। किसानों ने विरोध किया तो पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। तब इस मामले में आरोपी एक साहूकर का पॉलिटिकल कनेक्शन सामने आया था। 

साहूकार तेजा सिंह के आरोपी दो लड़कों में से एक जसप्रीत उर्फ जस्सा अकाली दल यूथ विंग का जिलाध्यक्ष है। लिहाजा अकाली नेताओं का आरोपी आढ़तियों के समर्थन में आना लाजिमी लगता है। हालांकि कांग्रेस का कहना है कि स्थानीय नेता धरना देने नहीं, पुलिसवालों पर दबाव डालने गए होंगे।