योगी की रैली में पुलिस ने महिला का उतरवाया बुर्का, कहा- मैं सीएम की सपोर्टर

नई दिल्ली ( 22 नवंबर ): उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बलिया में मंगलवार को निकाय चुनाव को लेकर रैली में पहुंचे। सभा में एक महिला बुर्का पहनकर पहुंची तो मौजूद महिला पुलिस अधिकारियों ने सबके सामने उससे बुर्का उतरवा दिया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

बताया जा रहा है कि यह महिला बीजेपी की सक्रिय कार्यकर्ता है जो पिछले कई सालों से बीजेपी के लिए काम कर रही है। मामले पर पुलिस ने कहा है- ''सरकार की ओर से ऐसा ऑर्डर है कि कोई भी योगी जी को काला कपड़ा नहीं दिखा सकता है। अगर बुर्के वाली बात है तो इसकी जांच कराएंगे।"

बताया जा रहा है कि महिला का नाम शायरा बानो है। महिला ने सुरक्षाकर्मियों से कहा, ''मैं सीएम योगी की सपोर्टर हूं। यहां रैली में उन्हें सुनने आई हूं।'' बाद में महिला ने मीडिया से कहा कि चूंकि हमारे लिबास का रंग काला था, इसलिए पुलिस आई और सुरक्षा की बात कहकर बुर्का उतरवा दिया।

रैली में ड्यूटी पर तैनात एक महिला पुलिसकर्मी ने नाम न बताने की शर्त पर कहा, ''काला कपड़ा ऐसी सभाओं में अलाउड नहीं होता। फिर चेहरा ढंककर कौन बैठा है, इसका पता नहीं चलता है। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ऐसा करना पड़ा।''

उधर, बीजेपी की महिला कार्यकर्ता अंजू सिंह ने कहा कि इस बात को आगे नहीं बढ़ाना चाहिए, बल्कि मुख्यमंत्री के सुरक्षा मानकों को लागू करने में सहयोग किया जाना चाहिए।"

बलिया के एसपी अनिल कुमार ने कहा, ''मुझे इस बात की जानकारी नहीं है कि किसी महिला को बुर्का उतारने के लिए कहा गया। हालांकि, सरकार की तरफ से ये ऑर्डर जरूर है कि कोई भी योगी जी को काला कपड़ा नहीं दिखा सकता है। लेकिन अगर बुर्का वाली बात है तो जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।