पश्चिम बंगाल में हजारों गांव वालों का पुलिस थाने पर हमला, कई पुलिसकर्मी घायल

नई दिल्ली ( 29 जनवरी ): बर्दवान जिले के आउसग्राम थाने पर शनिवार को हजारों की संख्या में लोगों ने ईंट-पत्थर से हमला बोल दिया जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। भीड़ ने थाने के वेटिंग रूम और कुछ कमरों में आग भी लगा दी। हमलावर इतने उग्र थे कि थाने के पुलिसकर्मियों को जान बचाने के लिए छुपना पड़ा।  

घटनास्थल पर पहुंचे बर्दवान जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) कुणाल अग्रवाल ने कहा कि भीड़ के हमले के बाद मौके पर बड़ी संख्या में पुलिसबलों को भेजा गया। हमले में कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इस घटना के सिलसिले में कई लोगों को हिरासत में लिया गया है। बर्दवान रेंज के आइजी राजेश कुमार सिंह भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।

दरअसल लोगों की भीड़ ने शुक्रवार को आउसग्राम-गुसकरा रोड पर सड़क जाम की थी। प्रदर्शनकारी पुलिस द्वारा स्कूल के तीन शिक्षकों की गिरफ्तारी का विरोध कर रहे थे। उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि गिरफ्तार किए गए शिक्षकों के साथ गुसकरा में बदसलूकी की गई। हालांकि जिले के एसपी कुणाल अग्रवाल ने कहा कि शनिवार की घटना के साथ शुक्रवार की घटना का कोई संपर्क नहीं है, क्योंकि यह मामला शांतिपूर्वक निपटा लिया गया था। घटना के सिलसिले में कुछ लोगों की पहचान की गई है। उनसे पूछताछ करने के बाद पता चलेगा कि इसमें कौन शामिल हैं।

सीएम ने दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घटना की जांच का आदेश देते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मामले में शामिल आउसग्राम थाना प्रभारी को पद से हटा दिया गया है। वहीं मुख्यमंत्री के निर्देश पर तृणमूल के स्थानीय पार्षद चंचल गड़ाई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।