जाटों के आंदोलन से पहले पुलिसवाले बहा रहे पसीना, मिल रही विशेष ट्रेनिंग

नई दिल्ली (9 फरवरी): हरियाणा के जींद में पुलिसवालों को इनदिनों विशेष तरीके की ट्रेनिंग दी जा रही है। एक तरफ उन्हे गुलेल चलाना सीखाया जा रहा तो दूसरी तरफ पत्थरबाजी से बचने के लिए रक्षा कवच बनाने की ट्रेनिंग दी जा रही है। ये सब इसलिए हो रहा है क्योंकि जाटों ने आरक्षण के मसले पर एक बार फिर आंदोलन की धमकी दे दी है। इसी आंदोलन से निपटने के लिए ये जवान अपने को तैयार कर रहे हैं।

वहीं पत्थरबाजी से निपटने के लिए इन जवानों ने विशेष रक्षा कवच बनाने की भी प्रैक्टीस की। पहाड़ की तरह जवानों ने अपने रक्षा कवच को तैयार किया है। इतना ही नहीं मुश्किल की घड़ी में कैसे बहादुरी से पूरे हालात पर काबू पाना है। ये सारी तरकीब भी इन जवानों को बताई जा रही है।

दरअसल हरियाणा में जाटों ने आरक्षण को लेकर एकबार फिर बिगुल फूंक दिया है। जाटों ने राज्य सरकार को धमकी दी है कि अगर आरक्षण को लेकर उनकी बातों को नहीं माना जाएगा तो वे पूरे राज्य में उग्र आंदोलन करेंगे। जाटों की इन्ही धमकियों को देखते हुए जींद पुलिस अभी से चौकस हो गयी है। हर हालात से निपटने के लिए पुलिस लाइन में जवानों को कई तरह की ट्रेनिंग दी जा रही है। 12 फरवरी को मय्यड़ में होनेवाली रैली से जाटों के आंदोलन की रूपरेखा तय होगी। लेकिन उससे पहले ही पुलिसवाले अपने को तैयार कर लेना चाहते हैं ताकि मुश्किल घड़ी में वो हालात पर काबू पा सकें।