पुलिस का खुलासा: दीप्ति के अपहरण से पहले 200 बार रैकी कर चुका था आरोपी

नई दिल्ली (15 फरवरी): दीप्ति के अपहरण से पहले आरोपी ने एक साल के अंदर करीब 200 बार उसकी रैकी की थी। यही नहीं आरोपी ने लड़की के लिए ऑटो चलाना सीखा था। यह खुलासा गाजियाबाद पुलिस ने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया है। पुलिस ने यह भी कहा कि यह एक तरफा प्यार का मामला है। कैसे हुआ था लड़की का अपहरण...ये है उसकी पूरी कहानी...

पुलिस ने और क्या बताया

> पुलिस ने कहा यह एक तरफा प्यार का मामला है। > आरोपी ने लड़की को राजीव चौक पर देखा था। > इसके बाद एक साल में आरोपी ने लड़की की हर जानकारी हासिल की। > एक साल में आरोपी ने लड़की की 200 से ज्यादा बार रैकी की थी। > आरोपी के दिमाग में लड़की के लिए सनक थी। > कई बार लड़की को ऑटो में ले जाने की कोशिश कर चुका था। > लड़की के लिए आरोपी ने ऑटो चलाना शुरू किया। > अपहरण के दिन एक स्विफ्ट कार भी तैयार थी। बैकअप के लिए दूसरा आरोपी कार में तैयार बैठा था। > जिस ऑटो में लड़की जा रही थी उसे पंक्चर किया गया। > थोड़ी दूर जाकर दूसरा ऑटी खराब हो गया। > आरोपी ने लड़की को तब अपने ऑटो में बिठाया। > ऑटो का सीएनजी खत्म होने पर भाई को फोन किया। > लड़की को भाई को फोन कर दूसरी कार मंगवाई। > लड़की का मूंह बांधकर आरोपी ने दूसरी कार मंगवाई। > कार के खराब होने पर आरोपी ने लड़की के भाई से बाईक मंगवाई। > सादलां कलां गांव से लड़की को ट्रेन पर बैठाया। > लड़की को लेकर नेपाल भागना चाहता था आरोपी। > आरोपी ने लड़की को दोस्त के खिलाफ भड़काया। > लड़की से कहा कि तुम्हारा दोस्त गलत है। > आरोपी पर अबतक 10 मामले दर्ज हैं। > शाहरुख की फिल्म डर से प्रभावित है आरोपी। > अपराध का मकसद साफ नहीं था।