पुलिस के सामने मर्डर, दुम-दबाकर भागी यूपी पुलिस

पारस जैन, बागपत (27 दिसंबर): उत्तर प्रदेश में बदमाशों के हौसले कितने बुलंद है, इसका अंदाजा आप सिर्फ इस बात से लगा सकते हैं कि पुलिस की सुरक्षा में भी मर्डर करने से नहीं हिचकिचाते। बागपत में पुलिस के सामने ही एक शख्स को बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी और पुलिस उसे बचाने की बजाय दुम दबाकर भाग गई।

बागपत के बागपत के बिनौली थाना इलाके के धनोरा सिलवर गांव में पुलिस की भारी भरकम सुरक्षा में देवी सिंह अपने खेत में काम करने आए थे। परिवार को इस बात का यकीन था कि पुलिस की देखरेख में देवी सिंह की जान को खतरा नहीं है, लेकिन उन्हें क्या पता था कि बदमाशों के सामने यूपी पुलिस के हौसले पस्त हो जाएंगे।

दो साल पहले देवी सिंह के भाई सुमित की हत्या कर दी गई थी और इस मामले में देवी सिंह मुख्य गवाह थे। भाई की हत्या का इंसाफ दिलाने के लिए मजबूत पैरवी कर रहे थे। परिवारवालों की माने तो हत्यारे देवी सिंह से समझौते का दबाव बना रहे थे, वरना अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। यही वजह थी कि पुलिस ने देवी सिंह को सुरक्षा दे रखी थी, लेकिन बदमाशों की धमकी से देवी सिंह नहीं डरे और यही बात हत्यारों को नागवार गुजरी। सरेआम पुलिस के सामने उनकी भी हत्या कर दी।

गोलियों की आवाज से सुनकर पूरा गांव खेत के पास पहुंच गया लेकिन जिसके जिम्मे देवी सिंह की सुरक्षा का जिम्मा था, वहीं भाग खड़े हुए। दिनदहाड़े हुई इस वारदात ने बागपत पुलिस की पोल खोल दी है। पुलिक मौके पर पहुंचकर बदमाशों की तलाश में जुटी है, लेकिन 2 दिन बाद भी पुलिस के हाथ अभी तक खाली हैं। परिवार खौफजदा है और सबके जेहन में यही सवाल उठ रहा है कि अगर पुलिस ही जान की हिफाजत नहीं कर पा रही है तो वो सुरक्षा की जिम्मदारी क्यों ले रही है।