मथुरा: दर्ज नहीं हुई FIR तो लोगों ने किया हंगामा, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

मथुरा (2 फरवरी): मथुरा में एफआईआर दर्ज ना होने से नाराज लोगों ने जमकर हंगामा मचाया। लोगों ने पुलिस की गाड़ी को तोड़ दिया वहीं थाने में जमकर तोड़फोड़ मचाई। इसके साथ लोगों ने पुलिस वालों पर जमकर पथराव किया।

लोगों के दिलों में वर्दी का खौफ खत्म हो चुका था और पूरा इलाका मानों किसी रणभूमि में तब्दील हो गया था। तोड़फोड़ और प्रदर्शन करने वालों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। कई घंटों तक चले बवाल के बाद आखिरकार पुलिस ने हालात को जैसे-तैसे काबू में किया। पुलिस को तोड़फोड़ करने वाले प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज करना पड़ा।

अब आपको पूरा मामला समझाते हैं। दस दिन पहले एक गाड़ी की चपेट में आने से एक राजमिस्त्री की मौत हो गई थी। इलाके के लोग बीते 10 दिनों से आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग कर रहे थे, लेकिन पुलिस एफआईआर दर्ज नहीं कर रही थी। बल्कि वो पीडित परिवार पर मामला रफा-दफा करने का दवाब भी बना रही थी। इलाके में इसी बात को लेकर नाराजगी थी और सोमवार को लोगों के सब्र का बांध टूट गया।

बवाल और लाठीचार्ज के बाद नाराज लोगों ने सड़क जाम कर दिया। इसके बाद पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारियों को मौके पर पहुंचे। काफी देर तक समझाइश का दौर चलता रहा और आखिरकार मुआवजे और कार्रवाही का भरोसा मिलने पर हंगामा खत्म हुआ। फिलहाल एसएसपी ने लापरवाही बरतने पर थाना प्रभारी को लाइन हाज़िर कर दिया है।

हालांकि मामला शांत हो चुका हैं, फिर भी एतिहातन इलाके में पुलिस फोर्स को तैनात कर दिया गया। बवाल में कुछ प्राइवेट प्रॉपर्टी को भी नुकसान पहुंचा हैं। सवालों के घेरे में महावन थाना पुलिस हैं, जिस पर आरोपी को शह देने और पीड़ित परिवार पर दबाब बनाने के आरोप हैं।