बलात्कारियों के सामने पुलिस ने हथियार डाले, लडकियों ने छोड़ी पढ़ायी

नई दिल्ली (7 जनवरी): उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात में अपराधियों और बलात्कारियों के डर से लड़कियों ने कॉलेज जाना छोड़ दिया है। दो दिन पहले मंगलपुर गांव में कॉलेज जा रही एक लड़की से गैंग रैप हुआ पुलिस बलात्कारियों को बचाने में जुटी रही। आस-पास के गांव वालों का दबाव बढा तब कहीं जाकर सिर्फ छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया। जब पीड़िता के परिवारी जनों ने पुलिस को आत्महत्या कर लेने की धमकी दी तो पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल करवाया।

मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि होने के बाद पुलिस को बलात्कार की धाराएं जोड़नी पड़ीं। इसके बाद क्षेत्र के प्रभावशाली लोग स्थानीय पुलिस अधिकारियों के पास गये और स्कूल-कॉलेज जाने वाली लड़कियों की सुरक्षा के लिये समुचित उपाय की मांग की। बताते हैं कि पुलिस उनकी मांग पर हाथ खड़े कर दिये। मजबूरन लड़कियों को स्कूल छोड़ कर घर बैठना पड़ा है। इस घटना के बाद से झींझक गांधी विंद्यालय, जनता बालिका विद्यालय, गौरीशंकर महिला विद्यालय और रामाशंकर महिला महाविद्यालय में पढने वाली सभी लड़कियां पढ़ाई छोड़ घर पर बैठने को मजबूर हैं।