नीरव मोदी ने ED के सामने पेश होने से किया मना

नई दिल्ली (23 फरवरी): पंजाब नेशनल बैंक महा घोटाले के आरोपी नीरव मोदी ने प्रवर्तन निदेशालय को चिट्ठी लिखी है। इसमें उसने अभी ईडी के सामने पेश होने से मना कर दिया है। ईडी ने बैंक फ्रॉड मामले में पूछताछ के लिए नीरव मोदी को समन जारी किया था।

इससे पहले नीरव मोदी ने पीएनबी बैंक को चिट्ठी लिखी थी, जिसमें उसने बताया था गलत तौर पर बताई गई बकाया राशि से मीडिया में हो-हल्ला हो गया जिससे ब्रांड और कारोबार नुकसान हुआ है। जिसके जवाब में पीएनबी ने भी नीरव मोदी को चिट्ठी लख पूछा है कि आपने पैसा लौटाने का जो भी वादा किया है, उसमें किसी भी तरह से ये नहीं बताया है कि आप किस तरह ये पैसा लौटाएंगे। अगर आपके पास ऐसा कोई ठोस प्लान है तो हमें बताएं।

वहीं ईडी अब नीरव मोदी को मेल के जरिए नया समन जारी करेगी। उधर नीरव मोदी के वकील विजय अग्रवाल का कहना है कि जांच एजेंसियां नीरव मोदी पर आरोप तय नहीं कर सकती है।

नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की 1200 करोड़ी की संपत्त‍ि जब्त पीएनबी में महाघोटाले के बाद हीरा व्यापारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की कंपनियों और ठिकानों पर लगातार छापे डाले जा रहे हैं। अब आयकर विभाग ने हैदराबाद स्थित गीतांजलि ग्रुप के हजारों करोड़ों की सेज यूनिट को अपने कब्जे में ले लिया है, जिसकी कीमत करीब 1200 करोड़ रुपये बताई जा रही है। गीतांजली ज्वेलर्स ने इस यूनिट से हीरे और मोती के बने ज्वेलरी एक्सपोर्ट करने का काम अपने आयकर कर विभाग को ब्योरे में दिखाया था।

वहीं हीरा व्यापार में नीरव के सहयोगी मेहुल चौकसी द्वारा जम्मू-कश्मीर बैंक से 121 करोड़ की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। नागपुर में भी एक ज्वैलर्स को गीतांजलि ज्वैलर्स द्वारा फंसाए जाने का मामला सामने आया है। नागपुर के एमबी ज्वैलर्स संचालक देवन कोठारी ने गीतांजलि समूह पर चेक के माध्यम से 1.80 करोड़ रुपए के साथ 57 लाख रुपए का आरटीजीएस लेकर जालसाजी करने का आरोप लगाय है। आपको बता दें कि पिछले साल के आखिरी 6 महीनों में कच्चे हीरे के आयात में ढाई सौ फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।