पीएनबी घोटाले पर PM मोदी ने तोड़ी चुप्पी, कहा- 'जनता के पैसे की लूट बर्दाश्त नहीं'

नई दिल्ली (23 फरवरी): पीएनबी में हुए 11,400 करोड़ रुपये के महाघोटाले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को अपनी चुप्पी तोड़ी। उन्होंने कहा कि सरकार जनता के पैसों की लूट बर्दाश्त नहीं करेगी। वित्तीय गड़बड़ियां करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। हालांकि पीएम ने सीधे तौर पर पीएनबी घोटाले या किसी अन्य मामले का जिक्र नहीं किया है। लेकिन मोदी का ये बयान जिस समय आया है, उसे पीएनबी घोटाले से ही जोड़कर देखा जा रहा है।

इस धोखाधड़ी के सामने आने के कुछ दिन बाद पीएम ने वित्तीय संस्थानों की प्रबंधन और निगरानी इकाइयों को नसीहत देते हुए कहा कि वे इस तरह के फर्जीवाड़े का पता लगाने के लिए अपना काम पूरी तत्परता से करें। एक मीडिया समूह की ओर से आयोजित ग्लोबल बिजनेस समिट में पीएम ने कहा, सरकार वित्तीय गड़बड़ियां करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रही है। हम उनके खिलाफ कठोर कदम उठाते रहेंगे। 

उन्होंने कहा, मैं उन लोगों से अपील करना चाहता हूं, जिन्हें नियम और नीतियां बनाने का काम सौंपा गया है। उन्हें नैतिकता बनाए रखने के लिए अपने काम को पूरी लगन और समर्पण के साथ करना चाहिए। पीएम ने साथ ही कहा कि इसका पालन उन लोगों को जरूर करना चाहिए जिन पर पर्यवेक्षण एवं निगरानी की जिम्मेदारी है।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा 'बीते तीन-चार सालों में भारत ने आर्थिक विकास को मजबूत किया है। इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड (आईएमएफ) के मुताबिक, 2013 के अंत में भारत की ग्लोबल जीडीपी 2.4 फीसदी थी जबकि आज चार साल बाद यह 3.1 फीसदी हो गई है।' गौरतलब है कि 114 अरब रुपये के पीएनबी घोटाले में कारोबारी नीरव मोदी देश छोड़कर भाग चुका हैं।