नीरव मोदी पर CBI का शिकंजा, इंटरपोल और यूके सरकार से तुरंत गिरफ्तार की मांग की

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (10 मार्च): देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी पर सीबीआई ने अपना शिकंजा और कस दिया है। लंदन की सड़कों पर भगोड़े नीरव मोदी के दिखने के बाद, भारतीय एजेंसियां और सक्रिय हो गई हैं। सीबीआई ने इंटरपोल और यूके अथॉरिटीज से सम्पर्क साधकर भगोड़े कारोबारी के खिलाफ जारी रेड कॉर्नर नोटिस पर कार्रवाई कर तुरंत गिरफ्तारी की मांग की है। सूत्रों से मिल रही जानाकरी के मुताबिक सीबीआई इंटरपोल यूके से बात कर यह सुनिश्चित करने को कहेंगे कि नीरव मोदी वहां से कहीं और न जाए। माना जा रहा है कि नीरव मोदी किसी अन्य देश भागने की फिराक में है। अधिकारियों का कहना है कि यूके की अथॉरिटी और इंटरपोल ने उन्हें अगस्त 2018 में बताया था कि नीरव मोदी उनके देश में है, लेकिन उसकी सही लोकेशन की जानकारी नहीं है।सीबीआई ने शनिवार को कहा कि अपने रिश्तेदार मेहुल चोकसी के साथ मिलकर पंजाब नेशनल बैंक में 13 हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने के मामले में वांछित भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए एजेंसी ब्रिटेन के अधिकारियों को हर जरूरी सहायता उपलब्ध करायेगी। एजेंसी के प्रवक्ता नितिन वाकणकर ने बताया कि सीबीआई उस प्रत्यर्पण अनुरोध के जवाब का इंतजार कर रही है जिसे पिछले वर्ष अगस्त में विदेश मंत्रालय के माध्यम से ब्रिटेन को भेजा गया था। लंदन से इस बात की पुष्टि हुई थी कि नीरव मोदी उनके देश में है और इसके बाद ही इस अनुरोध को भेजा गया था।सीबीआई प्रवक्ता वाकणकर ने कहा कि 'हम नीरव मोदी का प्रत्यर्पण सुनिश्चित कराने में विदेश मंत्रालय के माध्यम से ब्रिटेन को हर संभव सहायता देने के लिए तैयार हैं।' ब्रिटेन के एक अखबार ‘टेलीग्राफ’ ने अपनी खबर में दावा किया है कि नीरव मोदी लंदन में एक आलीशान अपार्टमेंट में रहता है और वहां की सड़कों पर घूमता है। अखबार की ओर से जारी एक वीडियो में दिख रहा है कि रिपोर्टर के सवालों पर नीरव ने बार-बार कहा कि  नो कमेंट।