11,356 करोड़ के घोटाला पर पंजाब नेशनल बैंक ने दी सफाई

नई दिल्ली(15 फरवरी): 11,356 करोड़ के घोटाला पर पंजाब नेशनल बैंक ने गुरुवार को सफाई दी। बैंक के एमडी सुनील मेहता ने कहा- "नीरव मोदी पैसा वापस करना चाहते थे लेकिन प्लान पुख्ता नहीं था।" 

- उन्होंने कहा- "हम 133 साल पुराना संगठन हैं। इस दौरान कई उतार-चढ़ाव देखे। हम दूसरे सबसे बड़े नेशनलाइज्ड बैंक हैं। हम मीडिया से सहयोग चाहते हैं। हम गलत काम करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त एक्शन लेंगे।"

- एमडी सुनील मेहता ने बताया- "जैसे ही पता लगा, हमने जांच की। आरोपियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई होगी। हमने सभी पक्षों को इस बारे में जानकारी दी है। एडवाइजरी भी जारी की है। सेबी को भी बताया है। हम क्लीन बैंकिंग का जो एजेंडा है उसके तहत कार्रवाई कर रहे हैं। फिर चाहे वो कस्टमर हो या स्टाफ।"

- "हमारे पास समस्या से निपटने का आकार और क्षमता दोनों हैं। हमने एफआईआर दर्ज की हैं। आरोपी ग्रुपों के खिलाफ रेड चल रही हैं। ये बहुत सेंसटिव इश्यू है। इसे सनसनी ना बनाएं नहीं, तो इससे आरोपियों को फायदा हो सकता है और जांच प्रभावित हो सकती है।"

- "हमने अपने स्टाफ जिनमें मिस्टर शेट्टी शामिल हैं, एक्शन लिया है। कुछ सस्पेंड किए गए हैं। इन लोगों को लीगल फ्रेम वर्क में लाया जाएगा। हम किसी भी गलत काम को बढ़ावा नहीं देंगे। ये कैंसर सर्जरी की तरह है इसे साफ किया जाएगा। आपको लगता होगा कि हम कुछ देर से मीडिया के सामने आए। लेकिन जांच एजेंसियों को सहयोग करना ज्यादा जरूरी है।"

- "हमें घोटाले का पता जनवरी के तीसरे हफ्ते में पता लगा। 29 जनवरी को सीबीआई को जानकारी दी। 30 को एफआईआर दर्ज कराई।"

-" गड़बड़ी ज्यादातर भारतीय बैंकों की फॉरेन ब्रांचों की वजह से हुई। जांच बहुत तेजी से चल रही है। इसके बाद आपको हर मुद्दे की जानकारी देंगे।"

- "हमने माना है कि हमारे कर्मचारियों ने सिस्टम से धोखा किया है। इसलिए उनके खिलाफ केस दर्ज कराया गया है। आप ये तय मानिए कि कोई भी कितना भी बड़ा क्यों ना हो, हम किसी को छोड़ने वाले नहीं हैं। ये हमारी साख का सवाल है।"

- "नीरव मोदी पैसा वापस करने के लिए कोई पुख्ता प्लान हमारे पास लेकर नहीं आए थे। हां, हम मानते हैं कि मोदी पैसा लौटाने की पेशकश लेकर हमारे पास आए थे।"

- आप इसे विजय माल्या केस नहीं जोड़ें। दोनों मामले अलग-अलग हैं।