PNB महाघोटाले पर पीएम मोदी ने तोड़ी चप्पी, कहा- जिन्हें जिम्मेदारी दी गई है और वह ईमानदारी से निभाएं

नई दिल्ली ( 23 फरवरी ): देश के दूसरे सबसे बड़े सार्वजनिक बैंक पंजाब नेशनल बैंक में करीब 11500 करोड़ का महाघोटाला हुआ है। इस महाघोटाले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है। पीएम मोदी ने कहा कि जिन्हें जिम्मेदारी दी गई है और वह ईमानदारी से अपनी जिम्मेदारी निभाएं। पीएम मोदी ने कहा कि जनता के पैसे का गलत इस्तेमाल नहीं होने देंगे। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि उनकी सरकार देश में आर्थिक अनियमितताओं के खिलाफ सख्त कदम उठा रही है और आगे भी उठाएगी. साथ ही प्रधानमंत्री ने वित्तीय संस्थानों को और अधिक निष्ठा के साथ निगरानी का दायित्व निभाने की नसीहत भी दी। 

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के बाद पहली बार इस मुद्दे पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जिन वित्तीय संस्थानों को निगरानी और मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी सौंपी गई है वह पूरी ईमानदारी के साथ अपनी ज़िम्मेदारी निभाएं। 

प्रधानमंत्री ने कहा, 'मैं स्पष्ट करना चाहूंगा कि ये सरकार आर्थिक विषयों से संबंधित अनियमितताओं के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई कर रही है, करेगी और करती रहेगी। जनता के पैसे का अनियमित अर्जन, इस सिस्टम को स्वीकार नहीं होगा।

उन्होंने वित्तीय संस्थाओं को नसीहत देते हुए कहा 'एक अपील मैं ये भी करना चाहता हूं कि विभिन्न वित्तीय संस्थाओं में नियम और नीयत यानि एथिक्स बनाए रखने का दायित्व जिन्हें दिया गया है वो पूरी निष्ठा से अपना कर्तव्य निभाएं। विशेषकर जिन्हें निगरानी और मॉनीटरिंग की जिम्मेदारी सौंपी गई है।'