बैंकिग व्यवस्था पर श्वेत पत्र जारी करे सरकार: कांग्रेस

नई दिल्ली ( 18 फरवरी ): देश के दूसरे सबसे बड़े सार्वजनिक बैंक पंजाब नेशनल बैंक में करीब 11500 करोड़ रुपए का महाघोटाला हुआ है। इस घोटाले का मुख्य आरोपी नीरव मोदी और उसके मामा मेहूल चोकसी दोनों देश से फरार हैं। अब इसे कांग्रेस ने मोदी सरकार एक बार फिर हमला बोला है। कांग्रेस ने बैंकिंग व्यवस्था को लेकर श्वेत पत्र जारी करने की मांग की है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने कहा कि 'रोटोमैक पेन के कोठारी' एक और घोटाला सामने आया है। उन्होंने कहा कि रोटोमैक पेन का मालिक कोठारी भाग गया है। तिवारी ने कहा कि ऐसे कई मामले अब सामने आ रहे हैं।

मनीष तिवारी ने कहा कि पीएनबी ने विजिलेंस अवार्ड हासिल किया ऐसा विजिलेंस था। कांग्रेस नेता ने कहा कि 30 सितम्बर 2017 तक कुल एनपीए 8,36,783 करोड़ रुपए था जिसमें 77 फीसदी देश के बड़े उद्योगपति पर बकाया है। 

उन्होंने कहा कि आरबीआई के आंकड़े के मुताबिक बैंकिंग फ्रॉड के कुल 61260 करोड़ रुपए मामले एनडीए के शाषन में बढ़ा है। अब पीएनबी का जोड़ दें तो 80000 करोड़ हो जाता है। मनीष तिवारी ने कहा कि कांग्रेस मांग करती है कि बजट सत्र के अगले चरण में बैंकिंग सिस्टम की व्यवस्था पर सरकार श्वेत पत्र जारी करे। 

उन्होंने कहा कि सरकारी बैंक और निजी बैंक अपने एनपीए के कुल रकम 31 दिसम्बर तक का घोसित करें। जनता को जानने का ये हक है।