अस्पताल जाकर लांस नायक हनुमंथप्पा से मिले पीएम मोदी

नई दिल्ली (9 फरवरी): सियाचिन में हुए हिमस्खलन में भारी बर्फ के नीचे छह दिनों तक दबे रहने के बाद चमत्कारिक रूप से जीवित रहे लांस नायक हनुमंथप्पा को देखने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल गए, जिन्हें इस जवान को विशेष एयर एंबुलेंस के जरिए लाया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इस बहादुर सिपाही को दिल्ली में इलाज के लिए भर्ती कराये जाने की खबर के बाद इनसे मिलने अस्पताल पहुंचे। मोदी ने कहा कि हम ईश्वर से उनकी सलामती की कामना करते हैं। उनकी बहादुरी की मिसाल देने के लिए शब्द काफी नहीं हैं। सेना के सूत्रों ने कहा कि उनकी हालत नाजुक लेकिन स्थिर है और अस्पताल में उनके कई परीक्षण हो रहे हैं।

इससे पहले बर्फ से निकाले जाने के बाद उन्हें सियाचिन हिमनद स्थित सेना के आधार शिविर में लाया गया था और वहां से उन्हें एक विशेष एयर एंबुलेंस में दिल्ली लाया गया। पाकिस्तान से सटी नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास 19,600 फुट की उंचाई पर स्थित चौकी के हिमस्खलन की चपेट में आ जाने के बाद मूल रूप से कर्नाटक के निवासी थप्पा छह दिन तक 25 फुट मोटी बर्फ के नीचे दबे रहे। उन्हें कल बाहर निकाला गया। वहां पर तापमान शून्य से 45 डिग्री नीचे था।