सांसदों ने नहीं दिया ध्यान तो PM ने सुनी मासूम की गुहार, अब पटरी पर बनेगी सड़क

उन्नाव (2 फरवरी): यूपी में उन्नाव के एक सात साल के लड़के की चर्चा पूरे इलाके में हो रही है। लड़के का नाम नयन है जिसने इलाके की रेल पटरिय़ों पर रास्ता बनाने को लेकर पीएम को चिट्ठी लिखी थी। अब उसकी चिट्ठी का जवाब आया है जिसमें रेल पटरियों पर प्लेन रास्ता बनाने की बात कही गई है। पीएम ऑफिस से जवाब आने के बाद नयन और उसके घरवालों का खुशी का ठिकाना नहीं है।

बात उन्नाव के राजेपुर इलाके का है जहां सैकड़ों लोगों की जिंदगी बदलने वाली है। जहां रोजाना मौत के पास से गुजरनेवाले बच्चों को नई जिंदगी मिलने वाली है। ये सब इस मासूम की वजह से जिसका नाम है नयन सिन्हा। सातवीं क्लास में पढ़ने वाले नयन की पहल से अब रोजाना हादसे को न्योता देनेवाली इन रेल पटरियों पर अब रास्ता बनने वाला है।

दरअसल सातवीं में पढ़नेवाले नयन ने इन रेल पटरियों को लेकर पीएम मोदी को एक चिट्ठी लिखी थी। इसमें उसनें यहां होनेवाले हादसों का जिक्र किया, साथ ही स्कूल जाने के दौरान होने वाली मुसीबतों के बारे में बताया। चिट्ठी मिलने के बाद पीएम ऑफिस से तुरंत एक रेलवे टीम को यहां पहंची और फिर जांच के बाद तुरंत ही यहां रास्ता बनाने की बात कही गई। रेल मंत्रालय की ओर से जैसे ही इस बात की जानकारी नयन और उसके घरवालों को दी गई। उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

नयन की इस पहल से पहले इलाके के लोगों ने यहां प्लेन सड़क बनाने के लिए कई बार स्थानीय सांसदों और विधायकों से गुहार लगाई थी। लेकिन किसी ने भी उनकी बातों पर ध्यान नहीं दिया। हाल ही में स्कूल जाते वक्त एक छात्रा की मौत के बाद नयन ने रास्ता बनाने के लिए चिट्ठी के जरिए पीएम की मदद ली और उसकी यही कोशिश रंग लाई।

इस रास्ते से रोजाना 200 स्कूली बच्चे अपनी जान जोखिम में डालकर स्कूल जाते हैं। इतना ही नहीं उन्हे पांच मिनट की दूरी घंटे भर में तय करनी होती। लेकिन अब नयन की वजह से ये सारी समस्याएं चंद दिनों में खत्म हो जाएंगी और इलाके की तस्वीर बदल जाएगी।