पीएम मोदी ने गौतम गंभीर को लिखा पत्र, यहां पढ़े

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (16 दिसंबर): टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज गौतम गंभीर ने 4 दिसंबर को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा कर दी थी। सोशल मीडिया पर वीडियो संदेश के जरिए गंभीर ने संन्यास का ऐलान किया था। इसके बाद 6 दिसंबर को आंध्रप्रदेश के खिलाफ दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान पर आखिरी बार प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलने के लिए उतरे। मैच में शानदार शतक जड़कर उन्होंने क्रिकेट को धमाकेदार अंदाज में अलविदा कहा।

गंभीर के क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद संभावनाएं जताई जा रही हैं कि गंभीर करियर की दूसरी पारी सियासत में शुरू कर सकते हैं। ये भी कयास लगाए जा रहे हैं कि सोशल मीडिया पर राष्ट्रवादी विचारधारा के प्रवर्तक के रूप में पहचान बनाने वाले गंभीर भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम सकते हैं। हालांकि गंभीर सियासी पिच पर बल्लेबाजी करने के बारे में अबतक किसी तरह की घोषणा नहीं की है। 

उनके संन्यास लेने के बाद देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को क्रिकेट के मैदान पर कई यादगार पल देने के लिए पत्र लिखकर धन्यवाद दिया है। उन्होंने संन्यास को एक चीज के अंत की बजाए कई चीजों की शुरुआत बताया है। पीएम ने उनके सुनहरे करियर को याद करते हुए भविष्य के लिए शुभकामनाएं भी दी हैं। गंभीर ने इस पत्र को सोशल मीडिया पर प्रशंसकों के साथ साझा कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है। गंभीर ने अपने ट्वीट में लिखा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी आपको प्यार भरे शब्दों के लिए धन्यवाद। प्रशंसकों और देशवासियों के प्यार और सहयोग के बगैर मुझे कुछ हासिल नहीं हो पाता। मेरी सारी उपलब्धियां देश को समर्पित हैं।' 

प्रिय गौतम,         मैं पत्र की शुरुआत आपको भारतीय खेलों के विकास के लिए आपके बेहतरीन योगदान के लिए बधाई के साथ करता हूं। भारतवर्ष सदैव आपके द्वारा देश के लिए किए गए यादगार प्रदर्शन के लिए आभारी रहेगा। जिनकी बदौलत हमारे देश को कई ऐतिहासिक जीत मिली। 

ये सब जानते हैं कि क्रिकेट आपका सबसे जीवन का सबसे बड़ा जुनून था। बेहद कम उम्र से आपने क्रिकेट खेलना शुरू किया और एक बड़ा खिलाड़ी बनने की इच्छा को पूरा करने के लिए अथक परिश्रम किया। मैं निश्चित रूप से ये बाद कर सकता हूं कि आपने अपनी इस यात्रा के दौरान जीवन में कई तरह के उतार-चढ़ाव का सामना किया होगा लेकिन अपने समर्पण और जिद की वजह से आप देश का प्रतिनिधित्व करने में सफल रहे। एक छोटे से अंतराल में आप भारतीय टीम के लिए एक विश्वसनीय आरंभिक बल्लेबाज बनकर उभरे जिन्होंने अधिकांश मौकों पर टीम के लिए आतिशी शुरुआत की। हाल के दिनों में भारतीय टीम ने दो बड़े टूर्नामेंट में जीत हासिल की जिसमें साल 2007 में आयोजित आईसीसी टी-20 विश्वकप और आईसीसी विश्वकप 2011 शामिल हैं। पूरे टूर्नामेंट के दौरान आपने शानदार प्रदर्शन किया लेकिन इनके फाइनल मुकाबलों में आपका प्रदर्शन सराहनीय रहा। 

खेल के अलावा आप समाज सेवा के कई कार्यों में आगे रहे हैं। आपकी ये इन पहलों को देखना बेहद सुखद है। यदि कोई विशिष्ट व्यक्ति लोगों का रास्ता दिखाए और समाज के पिछड़े लोगों के जीवन में बड़े और सकारात्मक बदलाव लाने के लिए के अपना बहुमूल्य समय और संसाधन मुहैया कराना अच्छा है। आपने भूखों के लिए भोजन उपलब्ध कराने और गरीबों को शिक्षित करने के लिए जो कार्य किए वो निसंदेह समाज की भलाई के लिए आपका अर्थपूर्ण योगदान है। कई सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों खासकर देश की एकता और अखंडता को बनाए रखने के मुद्दे पर आपने जिस तरह निर्भीक विचार लोगों के सामने रखे उसने आपको लोगों का चहेता बना दिया। 

आपने जब क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा की उससे अपने कई हितचिंतकोंऔर प्रशंसकों को निराशा हुई। हालांकि इस निर्णय से एक कार्य के अंत की नहीं बल्कि आपके जीवन में अन्य कई कार्यों की शुरुआत होगी। आपके पास अब जीवन के उन पहलुओं के लिए काम करने का मौका और समय होगा जिन्हें आप काफी पहले से करना चाहते होंगे लेकिन उसके लिए आपके पास वक्त नहीं होगा। 

मेरी ओर से आपको भविष्य के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं और एक बार फिर से आपको शानदार खेल करियर के लिए बधाई। हमें मैदान पर यादगार पल देने के लिए धन्यवाद।

आपका नरेंद्र मोदी