मोदी बोले, बुद्ध ने वियतनाम को भारत से जोड़ा

हनोई (3 सितंबर): किसी भारतीय प्रधानमंत्री के तौर पर 15 साल के बाद नरेंद्र मोदी वियतनाम की राजधानी हनोई पहुंचे। 2001 में अटल बिहारी वाजपेयी हनोई गए थे। मोदी का यह दौरा साउथ चाइना सी विवाद और ब्रह्मोस के सौदे से जोड़कर देखा जा रहा है।

इस बीच मोदी कुआंग सू पगोडा पहुंचे। उन्होंने कहा, 'युद्ध ने आपको दुनिया से दूर किया। बुद्ध ने आपको भारत से जोड़ दिया।' यहां से मोदी जी-20 समिट में हिस्सा लेने के लिए चीन के हांगझोउ शहर को रवाना हो जाएंगे।

पगोडा में क्या बोले मोदी ? - वियतनाम में मोदी 1000 साल पुराने बौद्ध मंदिर कुआंग सू पगोडा पहुंचे। - मोदी ने कहा, '1959 में भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद यहां आए थे। 57 साल बाद मुझे आने का मौका मिला।' - 'युद्ध का मार्ग कुछ लोगों को कुछ वक्त के लिए रुतबा दिखाने का मौका देता है। लेकिन बुद्ध का मार्ग शांति दिखाता है, शांति देता है।' - 'आज भी जो अशांति, आतंकी के मार्ग पर जा रहे हैं, उनको वियतनाम सीख देता है कि वे बुद्ध के संदेशों से बड़ा परिवर्तन ला पाए।' - 'बम-बंदूक वाले वियतनाम से सीखें जो बुद्ध के रास्ते पर चला।' - 'दोनों देशों की रिलेशनशिप 2000 साल पुरानी है। कुछ लोग यहां युद्ध के करने आए, हम यहां शांति का संदेश लेकर आए।' - 'युद्ध ने आपको दुनिया से दूर किया, बुद्ध ने आपको भारत से जोड़ दिया।' - 'मैं आपका यजमान हूं, आपको निमंत्रण देता हूं कि भगवान बुद्ध की धरती पर आइए।' - मेरा सम्मान किया, इसके लिए आप सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद देता हूं।